Top
Jan Shakti

वैशाली: टार्च की लाइट मे तेजस्वी गरजे, कहा- सुशील मोदी पर हमला जनादेश के अपमान का नतीजा!

वैशाली: टार्च की लाइट मे तेजस्वी गरजे, कहा- सुशील मोदी पर हमला जनादेश के अपमान का नतीजा!
X

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने वैशाली के चकसिकंदर में हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के काफिले पर हमला मामले में कहा कि उन्हे तो इस बात की जानकारी भी नहीं थी कि उनके पीछे कौन चल रहा है। मीडिया के माध्यम से जानकारी मिली कि सुशील मोदी के काफिले पर हमला हुआ है। तेजस्वी यादव ने कहा की सुशील मोदी तो अफवाह मियां है। वे अफवाह फ़ैलाने में माहिर है। राजद हिंसा का रास्ता नहीं अपनाती है बल्कि वे गाँधी जी के विचार धारा पर चलने वाले लोग है। मंगलवार शाम पूर्व सीएम तेजस्वी यादव जनादेश अपमान यात्रा के दूसरे चरण में समस्तीपुर पर उन्होंने ये बातें कही। उन्होंने कहा की जनादेश के अपमान से जनता नाराज है और इससे नीतीश और सुशील मोदी बौखलाए हुए हैं। ऐसा काम राजद के कार्यकर्त्ता कर ही नहीं सकते। राजद का कोई भी कार्यकर्त्ता ऐसे मामलों में शामिल नहीं है। जानबूझ कर हमारे जनादेश अपमान यात्रा को बदनाम करने की साजिश की जा रही है।


बीजेपी मुद्दे को ये उल्टी दिशा में ले जाना चाहती है। तेजस्वी ने सुशील मोदी पर आरोप लगते हुए कहा कि सृजन घोटाले में वित्त मंत्री रहते हुए जो इनकी भूमिका रही है और मुख्यमंत्री के जानकारी में ऐसे घोटाले हुए है और जब यह मामला जनता के सामने आ गई और जब नीतीश कुमार और सुशील मोदी फंस रहे हैं तो इस के डर से हमारे इस यात्रा को रोकना चाहते हैं और इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं और मुझे भागलपुर जाने से रोकना चाहते हैं ।उन्होंने कहा की सुशील मोदी को नीतीश कुमार और देश के प्रधानमंत्री से मांग करते है कि उन्हें एसपीजी की सुरक्षा दिया जाय।


Image Title


उन्होंने कहा की जनता रोड पर आ गई है। हो सकता है कि फायदा उठाने के लिए बीजेपी -आरएसएस के लोगों के द्वारा हमला किया गया हो। वहीं, शरद यादव के साथ आने के सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि जनादेश बिहार की जनता ने जनादेश बीजेपी के खिलाफ मिला है और नीतीश कुमार ने चोर दरवाजे से बीजेपी को सरकार में घुसा दिया। उन्होंने शारद यादव के जदयू को जनता का असली जदयू बताया और नीतीश की जदयू को सरकारी और नकली जदयू करार दिया।


ये क्यों माना जा रहा है कि आरजेडी के लोगों के द्वारा ही यह किया गया है। उन्होंने अपने कार्यकर्त्ताओं और बिहार की जनता से अपील की जो जनादेश अपमान के खिलाफ गुस्सा है उस गुस्से को दबा कर रखे और चुनाव के वक्त ईवीएम का बटन दवा कर इसका जबाब दे।


Image Title



Next Story
Share it