Top
Jan Shakti

भारतीय सेना ने पाक सैनिक की कब्र की मरम्मत, कहा – शहीद सैनिक किसी भी देश का है सम्मान का हकदार

भारतीय सेना ने गुरुवार को कश्मीर में बनी एक पाकिस्तानी सैनिक की कब्र की मरम्मत कराई है। भारतीय सेना ने कब्र की मरम्मत कराते हुए कहा है कि कोई भी फौजी चाहे जिस भी देश का हो, उसकी इज्जत जरूर की जानी चाहिए।

भारतीय सेना ने पाक सैनिक की कब्र की मरम्मत, कहा – शहीद सैनिक किसी भी देश का है सम्मान का हकदार
X

जनशक्ति समाचार: जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की तमाम नापाक साजिशों के बावजूद भारतीय सेना ने एक बार फिर इंसानियत और मित्रता की भावना की अनोखी मिसाल पेश की है। भारतीय सेना ने गुरुवार को कश्मीर में बनी एक पाकिस्तानी सैनिक की कब्र की मरम्मत कराई है। भारतीय सेना ने कब्र की मरम्मत कराते हुए कहा है कि कोई भी फौजी चाहे जिस भी देश का हो, उसकी इज्जत जरूर की जानी चाहिए।

सेना ने जिस कब्र की मरम्मत कराई है, वह पाकिस्तान के मेजर मोहम्मद शबीर खान की है। शबीर थान 05 मई 1972 को नियंत्रण रेखा के पास हुए एक संघर्ष के दौरान मारे गए थे। शबीर खान को इसके बाद भारतीय जमीन पर सुपुर्द-ए-खाक किया गया था। इसे भी भारतीय सेना ने पूरे सम्मान के साथ पूरा कराया था।

भारतीय सेना ने ट्वीटर पर दी जानकारी

शबीर खान की कब्र बीते दिनों जर्जर हालत में दिख रही थी। इसका संज्ञान लेते हुए भारतीय सेना ने इसकी मरम्मत कराई। कब्र की तस्वीर शेयर करते हुए भारतीय सेना की चिनार कोर ने ट्विटर पर अपने संदेश में लिखा, 'भारतीय सेना की परंपरा और शिष्टाचार को ध्यान में रखते हुए भारतीय सेना की चिनार कोर ने 05 मई 1972 को मारे गए पाकिस्तान सेना के मेजर मोहम्मद शबीर खान (सितारा-ए-जुर्रत) की कब्र को फिर से ठीक करा दिया है। हम इस बात पर विश्वास करते हैं कि किसी संघर्ष में जान गंवाने वाला कोई भी फौजी चाहे किसी भी देश का हो, उसे मौत के बात पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए।'

पाकिस्तान की नापाक साजिशों के बीच ऐसा जवाब

भारतीय सेना के इन ट्वीट्स में पाकिस्तान के डीजी आईएसपीआर को टैग किया गया है। सेना का यह संदेश उस पड़ोसी को अनुशासन सिखाने के लिए काफी है, जो अक्सर भारतीय फौजियों को नुकसान पहुंचाने के लिए नियंत्रण रेखा पर नापाक साजिशें रचता है। पाकिस्तान ने अतीत में भारतीय सैनिकों के शवों के साथ जिस प्रकार से बर्बरता कर अमानवीयता की घटनाओं को अंजाम दिया है, भारत का यह व्यवहार उसे असली सैन्य भावना सिखाने की मिसाल बन सकता है।

Next Story
Share it