Top
Jan Shakti

बन्दूकबाज के इस सीन को देखकर भड़का सेंसर बोर्ड, दिया ऐसा बयान की हिल उठेंगे आप।

बन्दूकबाज के इस सीन को देखकर भड़का सेंसर बोर्ड, दिया ऐसा बयान की हिल उठेंगे आप।
X

नई दिल्ली, 2 अगस्त : नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली मोदी सरकार के तीन साल से ज्यादा हो गए हैं। तीन साल के इस छोटे कार्यकाल में सरकार ने देश में विकास को वो गति दे दी है, जिसके लिए देश अब तक तरसता ही रह गया था। देश के चहुंमुखी विकास और देश के नागरिकों के हर संभव कल्याण के लिए मोदी सरकार ने ढेरों कदम उठाए हैं। इसके अलावा सरकार ने कई योजनाएं जैसे -बेटी पढ़ाओ, बेटी पढ़ाओ और सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की है ताकि महिला सशक्तिकरण की दिशा में देश आगे बढ़ सके।


एक तरफ जहां सरकार महिलाओं को लेकर कई योजनाएं बना रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ, बॉलीवुड में कई ऐसी फ़िल्में महिलाओं को लेकर बन रही है जिनके रिलीज होने से पहले सेंसर बोर्ड को कैंची चलानी पड़ती है। हाल ही में फिल्म 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' और 'जब हैरी मेट सेजल' में अपनी कैंची चलाने के विवाद के बाद सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी एक बार फिर विवादों में हैं। ये ताजा मामला नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टारर फिल्म 'बाबूमोशाय बन्दूकबाज' को लेकर है। इस फिल्म में बोर्ड ने 48 सीन काटने के बाद फिल्म को रिलीज़ करने का आदेश दिया है। बोर्ड ने इस फिल्म के लिए शूट किए गए किसिंग और लव मेकिंग सीन हटाने के लिए कहा है. इसके साथ ही सेंसर बोर्ड के सदस्यों ने इस फिल्म की महिला प्रोड्यूसर किरन श्रॉफ से अपमानजनक लहजे में बात की। इतना ही नहीं सेंसर बोर्ड के एक सदस्य ने किरण श्रॉफ से ये तक कह डाला कि वो महिला कैसे हो सकती है जो जींस और टी शर्ट पहनती है।


प्रोड्यूसर ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि फिल्म देखने के बाद उन लोगों (CBFC) ने घंटे भर तक इस पर आपस में बहस की। पहले तो उन्होंने बताया कि फिल्म को 'ए' सर्टिफिकेट दे रहे हैं। इसके बाद बताया है कि इसमें 48 कट लगे हैं। लेकिन, जब हमने पूछा कि फिल्म तो एडल्ट लोगों के लिए है तो 48 कट्स लगाने की क्या जरुरत है। इसी बीच में वहां मौजूद एक महिला ऑफिसर ने मुझसे पूछा, 'आप औरत होकर ऐसी फिल्में कैसे बना सकती हैं।' इससे पहले कि मैं कुछ बोल पाती उस कमेटी के ही एक सदस्य ने कहा, 'लेकिन ये औरत थोड़ी ना है। देखो तो कैसे कपड़े पहने हैं इसने।' ये सुनकर मैं भौचक्की रह गई। आपको बता दें, ये पहला मौका नहीं है, जब नवाज की यह फिल्म चर्चा का विषय बनी है। इससे पहले ये फिल्म सुर्खियों में तब आई थी जब अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह ने ये फिल्म छोड़ दी थी। बाद में चित्रागंदा की जगह विदिता बैग को नवाजुद्दीन के अपोजिट कास्ट किया गया था। ये फिल्म 25 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है।

Next Story
Share it