Top
Jan Shakti

BIG STORY: कर्नाटक के बाद मध्य प्रदेश में चलने लगी कांग्रेस की आंधी, जीत तय, भाजपा की होगी हार

BIG STORY: कर्नाटक के बाद मध्य प्रदेश में चलने लगी कांग्रेस की आंधी, जीत तय, भाजपा की होगी हार
X

कर्नाटक में तमाम पक्षपाती नीतियां अपनाने के बावजूद भाजपा राज्य में सरकार बनाने के लिए नाकामयाब साबित हुई है। यह हार भाजपा के लिए एक बहुत बड़ा झटका है। करारी शिकस्त के बाद अमित शाह ने कल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करके कांग्रेस को खूब कोसा। इस वहीँ कर्नाटक में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस मजबूत होती दिख रही है।


कर्नाटक के बाद MP में भाजपा को लगा बड़ा झटका

इस साल देश में दो बीजेपी शासित राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं एक है वसुंधरा राजे की सरकार वाला राजस्थान और दूसरा शिवराज चौहान वाला मध्यप्रदेश। जिस तरह से कर्नाटक में कांग्रेस ने बीजेपी को हार का मजा चखाया है। इसके बाद इन दोनों राज्यों में अपनी सरकार बनाने के लिए बीजेपी को पहले से ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। वहीँ कांग्रेस ने इन दोनों राज्यों में भाजपा को कमजोर बनाने और अपनी पैठ जमाने के लिए भाजपा पर प्रहार करने की रणनीतियों पर काम शुरू कर दिया है।

500 भाजपा नेता हुए कांग्रेस में शामिल

इसी बीच मध्यप्रदेश में बीजेपी के लिए एक बड़ी और बुरी खबर सामने आई है। जिसे बीजेपी का मनोबल टूट सकता है। भाजपा अभी कर्नाटक में हुई उथल-पुथल से बाहर भी नहीं आ पाई थी कि अब अचानक मध्यप्रदेश में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस में शामिल होकर भाजपा को बड़ा सदमा दे दिया है। जी हाँ, बीजेपी 500 से अधिक कार्यकर्ता राजधानी भोपाल पहुंचकर कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। यह पूरा घटनाक्रम बहुत ही गोपनीय तरीके से हुआ हैं, जिसके बारे में बीजेपी को कोई जानकारी नहीं थी।

राज्य में कांग्रेस को मजबूत बनाने में जुटे कमलनाथ

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने जब से वरिष्ठ नेता कमलनाथ को प्रदेशाध्यक्ष बनाया है, वह राज्य में कांग्रेस को मजबूत बनाने की हर संभव कोशिश में जुट गए हैं। इस मामले में कमलनाथ ने कांग्रेस में शामिल हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं को सदस्य्ता ग्रहण करने के बाद सम्बोधित करते हुए कहा कि आपके फैसले का हम सम्मान करते हैं। आपने कांग्रेस में शामिल होने का फैसला लेकर सिर्फ सच्चाई का साथ दिया। आपके इस कदम से मध्यप्रदेश का भविष्य सुरक्षित होगा।

बीजेपी के लिए चिंता का कारण

कर्नाटक चुनाव में हुई हार के बाद इतनी बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं का पार्टी छोड़ कर जाना बीजेपी के लिए चिंता का कारण बन सकता है। अचानक हुए इस घटनाक्रम ने बीजेपी को असमंजस में डाल दिया है। कहीं न कहीं ये सवालियां निशान पैदा करता है। कहा यह भी जा रही है कि आगे भी बीजेपी के कई नेता और कार्यकर्ता दूसरे जिलों से भी कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

Next Story
Share it