Top
Jan Shakti

कांग्रेस का पलटवार, कहा- औरंगजेब से भी क्रूर तानाशाह हैं पीएम मोदी, पार्टी के साथ लोकतंत्र को भी बनाया बंधक

कांग्रेस का पलटवार, कहा- औरंगजेब से भी क्रूर तानाशाह हैं पीएम मोदी, पार्टी के साथ लोकतंत्र को भी बनाया बंधक
X

नई दिल्ली: कांग्रेस ने पीएम पर पलटवार करते हुए कहा कि आज के औरंगजेब ने पार्टी सहित पूरे लोकतंत्र को बंधक बना लिया है। आज सवाल पूछने पर किसी को भी देशद्रोही ठहरा दिया जाता है और अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेता आडवाणी जी को जबरन मार्गदर्शक मंडल में भेज दिया जाता है। देश में आपातकाल को लेकर बीजेपी द्वारा निशाना बनाए जाने पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पीएम मोदी की तुलना औरंगजेब से करते हुए कहा कि दिल्ली सल्तनत के औरंगजेब से भी क्रूर तानाशाह मोदी जी ने देश को 43 साल पहले के आपातकाल का पाठ पढ़ाया, लेकिन आज उन्होंने पूरे लोकतंत्र को बंधक बना लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने सवाल पूछा कि क्या कांग्रेस पर भड़ास निकालने से मोदी जी के जुमलों पर पर्दा डल सकता है?



इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस पर हमला बोला। इसके जवाब में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि दिल्ली के क्रूर शासक औरंगजेब ने तो सिर्फ अपने पिता को बंधक बनाया था, लेकिन आज के औरंगजेब ने पार्टी सहित पूरे प्रजातंत्र को ही बंधक बना लिया है। उन्होंने कहा कि आज सवाल पूछने पर हर व्यक्ति को देशद्रोही करार दे दिया जाता है। अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को जबरन मार्गदर्शक मंडल में भेज दिया जाता है।



पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर बीजेपी नेताओं के हमलों का जवाब देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मोदी जी आपातकाल की बात कर देश को भटका रहे हैं। उन्होंने कहा, "क्या इंदिरा गांधी को कोसने से किसानों को लागत पर 50 फीसदी मुनाफा मिल सकता है? क्या आपातकाल की दुहाई देकर अच्छे दिन आ जाएंगे? इंदिरा गांधी ने देश के लिए एक बड़ी लड़ाई लड़ी थी। ये लड़ाई थी मुनाफाखोरों, जमाखोरों और सूदखोरों से देश के गरीबों को आजादी दिलवाने की, जिनको तत्कालीन जनसंघ और जनता पार्टी का संरक्षण था। इंदिरा जी ने भूमि सुधार लागू कर वंचितों को अधिकार दिलाने जैसा बड़ा काम किया। 43 साल पहले कांग्रेस और इंदिरा जी ने रियासती राजाओं के प्रिवी पर्स को खत्म करने और जमींदारी प्रथा को खत्म करने की लड़ाई लड़ी थी, जिन्हें जनसंघ का समर्थन प्राप्त था।" उन्होंने आगे कहा कि आज इतिहास के पन्नों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। जबकि मोदी जी आज भी साहूकारों और कुछ बड़े लोगों को फायदा पहुंचा रहे हैं।

Next Story
Share it