Top
Jan Shakti

फ्रांस की जीत पर किरण बेदी ने किया ट्वीट, टि्वटर पर हुईं ट्रोल, कांग्रेस ने पद से हटाने की मांग

फ्रांस की जीत पर किरण बेदी ने किया ट्वीट, टि्वटर पर हुईं ट्रोल, कांग्रेस ने पद से हटाने की मांग
X

20 साल बाद एक बार फिर फ्रांस फुटबॉल का विश्व विजेता बना है। रविवार (15 जुलाई) को लुजनिकी स्टेडियम में खेले गए फाइनल में क्रोएशिया को 4-2 से करारी शिकस्त दी। मैच शुरू होते ही फ्रांस की टीम क्रोएशिया पर हावी रही। मैच के 18वें मिनट में फ्रांस को बढ़त तब मिली जब क्रोएशिया के खिलाड़ी ने आत्मघाती गोल कर दिया। हालांकि, 28वें मिनट में पेरिसिच ने क्रोएशिया टीम की वापसी कराई, लेकिन इसके बाद फ्रांस की टीम ने मुड़ कर नहीं देखा। एक के बाद एक गोल कर टीम ने पहली बार फाइनल में पहुंची क्रोएशियाई टीम के सपनों को चकनाचूर कर दिया। भारत सहित दुनियाभर की जानी-मानी हस्तियों सहित कई लोग फ्रांस को ट्विटर पर बधाइयां दे रहे हैं। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य नेताओं ने फ्रांस को फीफा विश्व कप फुटबाल टूर्नामेंट जीतने पर बधाई दी है। इस बीच पुडुचेरी की राज्यपाल किरण बेदी ने भी ट्वीट कर फ्रांस की जीत पर बधाई दी, लेकिन उन्होंने ऐसा ट्वीट किया कि वह ट्रोलर्स के निशाने पर आ गईं। दरअसल अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि पुडुचेरी पूर्व में फ्रांसीसी उपनिवेश का हिस्सा था। ऐसे में फ्रांस के विश्व कप जीतने पर पुडुचेरी के लोगों को भी बधाई। अपने ट्वीट में देश की पहली महिला आईपीएस किरण बेदी ने लिखा, 'हम पुडुचेरीवासियों (जो पूर्व में फ्रांस के क्षेत्र का हिस्सा थे) ने वर्ल्ड कप जीत लिया है। बधाई दोस्तों। फ्रांस की क्या शानदार मिश्रित टीम थी। खेल जोड़ता है।'



दरअसल किरण बेदी ने अपने ट्वीट में लोगों को याद दिला गईं कि पुडुचेरी (उस समय का पांडिचेरी) कभी फ्रांस की कॉलोनी हुआ करता था। ट्विटर पर कई लोगों को किरण बेदी की ये टिप्पणी पसंद नहीं आई और वे उन्हें ट्रोल करने लगे। बता दें कि देश की आजादी के समय पांडिचेरी फ्रांसीसी कॉलोनी का हिस्सा था। भारत ने इस क्षेत्र पर बाद में कब्जा जमाया। यूजर्स ने किरण बेदी को याद दिलाया कि पुडुचेरी अब भारत का हिस्सा है और वे उस पुडुचेरी का उपराज्यपाल हैं। एक यूजर ने लिखा, "मैडम हम सब भारतीय हैं, आपको अपने पब्लिसिटी स्टंट रोकने चाहिए।" वहीं एक दूसरे ने लिखा, "क्या बात कर रही हैं मैम, गर्व का विषय तो तब होता जब भारत विश्व कप जीतता।" ऐसे ही एक यूजर ने कहा, 'आप खुश हैं कि हम फ्रांसीसी उपनिवेश थे… और हम दिल्ली के मूर्ख आपको मुख्यमंत्री बनाने का सपना देख रहे थे। मैंने आपको हमेशा भारतीय क्षेत्र का राज्यपाल माना, लेकिन… जाने दीजिए।' वहीं एक यूजर ने ट्वीट में सवाल किया कि क्या (किरण बेदी का) यह ट्वीट राष्ट्रविरोधी माना जाएगा।

कांग्रेस ने की पद से हटाने की मांग

किरण बेदी के इस ट्वीट पर कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने सख्त आपत्ति जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्हें तुरंत पद से हटाने की मांग की है। माकन ने ट्वीट में कहा, 'किरण बेदी के बयान को स्वीकार नहीं किया जा सकता और निश्चित रूप से एंटी-नेशनल है। नरेंद्र मोदी जी को उन्हें तत्काल वापस बुला लेना चाहिए।' माकन ने तंज कसते हुए कहा कि बेदी की जगह लेने के लिए डॉ. हर्षवर्धन, मनोज तिवारी या विजय गोयल के नाम पर विचार किया जा सकता है।





Next Story
Share it