Top
Jan Shakti

मध्य प्रदेश उपचुनाव: शिवराज के चार-चार दौरे और रात गुजारने के बाद भी इन दो गावों में हारी भाजपा

मध्य प्रदेश उपचुनाव: शिवराज के चार-चार दौरे और रात गुजारने के बाद भी इन दो गावों में हारी भाजपा
X

भोपाल। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले की कोलारस विधानसभा सीट और अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव की आज मतगणना हो रही है। दोनों की सीटों पर कांग्रेस ने बढ़त बनाई हुई है। काउंटिग के दौरान एक दिलचस्प आंकड़ा ये निकलकर आया है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने दोनों विधानसभाओं में जिन गावों में सबसे ज्यादा समय गुजारा और उनकी जो सभा सबसे ज्यादा चर्चा में रहीं, वहां भाजपा कांग्रेस से पिछड़ गई है। इसमें मुंगावली विधानसभा सीट का सेहराई गांव और कोलारस विधानसभा का रिजोदा गांव है।


जादूगर भी नहीं आए काम

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले की कोलारस विधानसभा सीट पर शिवराज सिंह चौहान ने काफी मेहनत की थी। यहां के रिजोदा में शिवराज सिंह चौहान ने सभा की थी। रिजोदा गांव में मुख्यमंत्री की सभा में जादूगर को बुलाया गया। जादूगर ने खूब तमाशे दिखाए। शिवराज ने यहां सभा की लेकिन इस गांव सभी भाजपा के उम्मीदवार देवेंद्र जैन को कांग्रेस कैंडिडेट से कम वोट मिले हैं।


चार सभाएं और रात गुजारना के बावजूद नहीं चला जादू

अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा सीट के सेहराई गांव में प्रचार के दौरान शिवराज सिंह चौहान ने काफी समय गुजारा था। मुख्यमंत्री ने पूरी रात गांव में रुककर भाजपा के पक्ष में वोट मांगे थे। सीएम एक-दो नहीं बल्कि चार बार चुनाव प्रचार के लिए इस गांव आए। शिवराज सिंह चौहान ने किसान सम्मेलन में पहुंचकर सेहराई में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा भी की। ऐसे में विधानसभा सीट की मतगणना में सेहराई गांव की काउंटिंग पर सबकी निगाहें टिकी हुई थी। सेहराई गांव में कांग्रेस के बृजेंद्र सिंह यादव ने भाजपा की बाई साहब यादव से 61 वोट ज्यादा पाई हैं।


दोनों सीटों के ताजा

मध्य प्रदेश के मुंगावली विधानसभा सीट पर कांग्रेस सातवें राउंड तक 3834 वोटों से आगे है। सातवें राउंड में कांग्रेस को 4783 और भाजपा को 3300 वोट मिले हैं। वहीं कोलारस विधानसभा सीट पर सातवें राउंड के बाद कांग्रेस 2000 वोटों से आगे चल रही है। मध्य प्रदेश में मुंगावली और कोलारस विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव में शनिवार को जबरदस्त मतदान हुआ। मध्यप्रदेश के कोलारास विधानसभा क्षेत्र में 70.40 और मुंगावली में 77.05 प्रतिशत मतदान हुआ। दोनों सीटें कांग्रेस के विधायकों के निधन से खाली हुई हैं।

Next Story
Share it