Top
Jan Shakti

मोदी का आजमगढ़ दौरा: सामने आया योगी प्रशासन का तालिबानी चेहरा, भीड़ जुटाने के लिए स्कूली वाहन दो या अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो.

मोदी का आजमगढ़ दौरा: सामने आया योगी प्रशासन का तालिबानी चेहरा, भीड़ जुटाने के लिए स्कूली वाहन दो या अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो.
X

मऊ: PM मोदी चुनावी मूड में रम चुके हैं, आज मुलायम सिंह के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में मोदी रैली करने वाले हैं.प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज अपनी इस यात्रा के दौरान वह 340 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करेंगे. पीएम मोदी वाराणसी से आजमगढ पहुंचेंगे और वहां एक्सप्रेसवे परियोजना का​ शिलान्यास करेंगे. इस परियोजना को लेकर सपा का दावा है कि यह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के दिमाग की उपज थी. छह लेन के एक्सप्रेसवे को आठ लेन तक विस्तारित किया जा सकता है. यह राजधानी लखनऊ को गाजीपुर से जोड़ेगा.

इन सब से अलग हट कर मोदी की रैली में भीड़ जुटाने के लिए योगी प्रशासन ने तालिबानी रूप ले लिया हैं. मऊ जिला के विद्यालय निरक्षक की तरफ से जिले के सभी प्राइवेट शिक्षण संस्थानों को आदेश दिया जाता हैं की 13 जुलाई को अपने निजी स्कूली बसों को रैली में भीड़ जुटाने के लिए समर्पित कर दें.




मधुबन के बीपीएस स्कुल के प्रबंधक रामनारायण सिंह इस आदेश को मानने से इंकार कर दिया, जिसके बाद शिक्षा विभाग के अधिकारी ने उन्हें अंजाम भुगतने की धमकी दे डाली.

रामनारायण सिंह ने जनशक्ति समाचार को बताया की 9 जुलाई को शिक्षा विभाग की तरफ से एक लिखित आदेश जारी किया गया जिसमे जनपद के 44 विद्यालयों को चिन्हित कर आदेश दिया गया की अपने निजी स्कूली वाहन मोदी जी की होने वाली रैली में भीड़ जुटाने के लिए दें.

रामनारायण सिंह ने कहा की मैं ने अधिकारी को बताया की निजी वहां छात्रों को लाने के लिए उपयोग होता है इस लिए मैं स्कूली वाहन नहीं दे पाउँगा, इतना सुन कर अधिकारी भड़क गया और अंजाम भुगतने की धमकी दे डाली. रामनारायण सिंह ने अधिकारी को कहा की मैं छात्रों के भविष्य के लिया हर अंजाम भुगतने को तैयार हूँ.

Next Story
Share it