Top
Jan Shakti

सागरिका घोष ने पूछा- BJP नेता के बेटे संग स्मृति ईरानी का पीछा करने वालों जैसा सलूक क्यों नहीं?

सागरिका घोष ने पूछा- BJP नेता के बेटे संग स्मृति ईरानी का पीछा करने वालों जैसा सलूक क्यों नहीं?
X

वरिष्ठ टीवी पत्रकार सागरिका घोष ने बीजेपी नेता के बेटे द्वारा एक लड़की का पीछा किए जाने के मामले की तुलना केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का दिल्ली विश्वविद्यालय के चार लड़कों का पीछा किए जाने की घटना से की है। सागरिका घोष ने ट्वीट किया है, "जब स्मृति ईरानी का डीयू के लड़कों ने पीछा किया तो उन्हें गिरफ्तार किया गया, सजा दी गई, वैसा ही बीजेपी के बेटा बचाओ नेता के बेटे के खिलाफ क्यों नहीं किया जा रहा?"



हरियाणा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके साथी पर वर्णिका कुंडु नामक युवती ने पांच अगस्त की रात करीब आधे घंटे तक कार से पीछा करने, गाड़ी का रास्ता रोकने और अगवा करने की कोशिश का मामला दर्ज कराया है। शिकायत के अनुसार विकास बराला और उसका साथी करीब सात किलोमीटर तक वर्णिका की गाड़ी का पीछा करते रहे। चंडीगढ़ पुलिस ने आरोपियों को थाने से ही जमानत दे दी। मीडिया और सोशल मीडिया में पुलिस पर राजनीतिक दबाव में काम करने का आरोप लग रहा है।हरियाणा बीजेपी के उपाध्यक्ष ने यह कहकर लोगों को और भड़का दिया कि "वो लड़की रात को 12 बजे बाहर क्यों घूम रही थी?" वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कहा कि बेटे के किए के लिए पिता को सजा नहीं दी जा सकती इसलिए सुभाष बराला को पद से नहीं हटाया जाएगा।




इसी साल अप्रैल में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले चार लड़कों के खिलाप पुलिस में शिकायत दर्ज करायी थी। ईरानी ने लड़कों पर आरोप लगाया था कि वो उनकी कार का पीछा कर रहे थे और एक बार उनकी गाड़ी को ओवरटेक भी किया था। चारों लड़कों को पुलिस ने तत्काल गिरफ्तार कर लिया था और उन्हें अगले दिन जमानत मिल पायी थी। चंडीगढ़ मामले की पीड़िता वर्णिका कुंडु के पिता भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी हैं। मामला तब सामने आया जब वर्णिका ने फेसबुक पर अपनी आपबीती लिखी। वर्णिका ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि चंडीगढ़ पुलिस अगर त्वरित कार्रवाई न करती तो आज वो बलात्कार के बाद किसी नाले में पड़ी मिलतीं।


हालांकि मामले के मीडिया में आने के बाद पुलिस ने कहा कि जिस रास्ते पर वर्णिका के संग ये हादसा हुआ उस पर लगे नौ सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे। लेकिन मंगलवार (आठ अगस्त) को कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि पुलिस को कुछ सीसीटीवी फुटेज ऐसे मिले हैं जिनमें वर्णिका का पीछा करते विकास और उसके साथी दिख रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया कि वर्णिका द्वारा अगवा किए जाने की शिकायत के बावजूद पुलिस ने आरोपियों पर अपहरण की धाराएं नहीं लगाई हैं।



Next Story
Share it