Top
Jan Shakti

VIDEO: पीएम मोदी की मिदनापुर रैली के दौरान BJP समर्थकों ने पुलिस अधिकारी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, बाल पकड़कर जमीन पर घसीटा

VIDEO: पीएम मोदी की मिदनापुर रैली के दौरान BJP समर्थकों ने पुलिस अधिकारी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, बाल पकड़कर जमीन पर घसीटा
X

पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में सोमवार (16 जुलाई) को जिस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैली को एक संबोधित कर रहे थे ठीक उसी वक्त भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के समर्थक जमकर उत्पात मचा रहे थे। बीजेपी समर्थकों ने पुलिसकर्मियों संग बुरी तरह से मारपीट की। रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी समर्थक पीएम मोदी को सुनने के लिए रैली स्थल पर पहुंचे थे, लेकिन रैली स्थल से कुछ दूरी पर पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोका और आगे पैदल जाने के लिए कहा। इससे नाराज बीजेपी समर्थकों ने एक पुलिस अधिकारी को बुरी तरह पीटने लगे। इस दौरान पुलिसवाले को ना भागने का रास्ता मिल रहा था, ना बचकर निकल पाने का, लोगों ने इतना मारा कि चलने लायक तक नहीं छोड़ा। पुलिस अधिकारी को बाल पकड़कर जमीन पर घसीटा गया और हाथों से पीटा गया। इसके अलावा वर्दी पहने सिविल वालंटियरों पर भी हमला किया गया। जाने बचाने के लिए जब वालंटियर भागे तो उनका पीछा कर डंडों से पीटा गया। रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी समर्थकों की मारपीट की वजह से कुछ पुलिसकर्मियों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि पिटाई करने वाले लोग बीजेपी के कार्यकर्ता थे। दरअसल एक शख्स सिर पर कमल छाप की टोपी पहन कर पुलिस वाले पर डंडे पर डंडे बरसाए जा रहा था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि उन्हें घटना की जानकारी मिली है। हालांकि उन्होंने मामले में कोई प्रतिक्रिया करने से इनकार कर दिया।



पीएम मोदी की रैली का टेंट गिरा, 90 लोग घायल

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मिदनापुर में हुई रैली के दौरान बड़ा हादसा हो गया। पीएम मोदी के भाषण के बीच एक टेंट भर-भराकर गिर पड़ा। इसमें करीब 90 लोग घायल हो गए, जिनमें 50 से ज्यादा महिलाएं शामिल हैं। केंद्र ने पीएम की रैली में हुई इस घटना पर पश्चिम बंगाल सरकार से दो दिन में रिपोर्ट मांगी है। एसपीजी भी पूरे मामले की जांच अपने स्तर पर करेगी और देखेगी कि पीएम की सुरक्षा में चूक तो नहीं रह गई थी। हालांकि केंद्र ने अभी तक इसे हादसा माना है। दरअसल रैली के दौरान कई उत्साही बीजेपी समर्थक अस्थायी शामियाने पर चढ़ गये थे। अधिकारियों ने बताया कि मोदी ने अपना भाषण बीच में रोककर बार-बार लोगों से नीचे उतरने की अपील की। प्रधानमंत्री बाद में घायलों से मिलने अस्पताल भी गये। घटना की जानकारी देते हुए प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कुछ लोग शामियाने के ऊपर चढ़ गये थे , जिसे तिरपाल से ढंका गया था। ढांचा लोगों के भार को सहन नहीं कर पाया और गिर गया। इससे महिलाओं समेत कई लोग जख्मी हो गए।


अधिकारियों के अनुसार प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के मध्य में ही पंडाल को ढहते देखा। उन्होंने तुरंत अपने निकट खड़े विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) कर्मियों को लोगों को देखने और घायलों की मदद करने को कहा। अधिकारियों के अनुसार स्थानीय भाजपा इकाई के साथ मोदी के डॉक्टर एवं एसपीजी कर्मी समेत उनके निजी कर्मचारी भी हरकत में आये और घायलों की मदद की। समाचार एजेंसी PTI को बीजेपी के एक पदाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री के काफिले में मौजूद एंबुलेंस के जरिए घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। एक अधिकारी ने बताया कि अधिकतर घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनकी संख्या में और इजाफा हो सकता है। रैली को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री ने अस्पताल का दौरा किया और घायलों से बात की। अधिकारियों ने बताया कि अस्पताल में भर्ती एक घायल महिला ने प्रधानमंत्री से उनका ऑटोग्राफ भी मांगा और उन्होंने खुशी-खुशी ऐसा दिया।

Next Story
Share it