Top
Jan Shakti

फिर मुलायम-शिवपाल के चहेतों की हुई बल्‍ले-बल्‍ले

फिर मुलायम-शिवपाल के चहेतों की हुई बल्‍ले-बल्‍ले
X

नई दिल्‍ली। कुछ दिनों की खामोशी के बाद सपा में एक बार फिर शह-मात का खेल शुरू हो गया है। सीएम अखिलेश यादव के विरोधी और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह और शिवपाल यादव के चहेते कहे जाने वालों की बल्‍ले-बल्‍ले हो गई है। अखिलेश की लाख कोशिशों के बाद भी एक विरोधी को टिकट मिला है तो दूसरे को चुनावों के दौरान स्‍टार प्रचारक होने का तमगा। सियासी गलियारों में कयास लगाए जा रहे हैं कि एक बार फिर से ये छोटी-छोटी बातें दिलों में खटास पैदा कर सकती हैं।

जिस बाहुबली अतीक अहमद को सीएम अखिलेश यादव ने सार्वजनिक मंच पर झटक दिया था, उसी को सपा के यूपी प्रदेश अध्‍यक्ष शिवपाल यादव ने आने वाले विधानसभा चुनावों की टिकट से नवाजा है। ये वो अतीक अहमद हैं जिनके खिलाफ दर्जनों आपराधिक केस विभिन्‍न पुलिस थानों में दर्ज हैं। दूसरी ओर अतीक अहमद का टिकट अखिलेश यादव के उस बयान को भी मुंह चिढ़ा रहा है जिसमें उन्‍होंने कहा था कि सपा में आपराधिक छवि वालों को कोई जगह नहीं दी जाएगी।

दूसरी ओर अमर सिंह को खुले मंच से साफ-साफ बाहरी कहने वाले सीएम अखिलेश यादव को पिता और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने भी एक करारा झटका दिया है। सूत्रों की मानें तो बाहरी होने का तंज झेल रहे अमर सिंह का नाम विधानसभा चुनावों के लिए स्‍टार प्रचारक की सूची में रखा गया है। गौर करने लायक बात ये है कि स्‍टार प्रचारकों की सूची में अभी तक अखिलेश यादव के किसी भी एक चहेते को जगह नहीं दी गई है। सपा के नजदीकी जानकारों का माना है कि मौजूदा हालात पिछले हालातों से जुदा नहीं हैं। पहले भी इसी तरह से छोटी-छोटी बातें बड़ी बन गईं थीं।

दूसरी ओर जानकार बताते हैं कि सिंचाई विभाग में जावेद अब्‍बास आब्‍दी को राज्‍यमंत्री का दर्जा दिए जाने को ये एक जबाव बताया जा रहा है। सपा की प्रवक्‍ता डॉ. मधु गुप्‍ता का कहना है कि चुनावों के लिए स्‍टार प्रचारक की सूची पार्टी में तैयार की जा रही है, ऐसी मुझे कोई अधिकारिक जानकारी नहीं है। लेकिन हां, इतना जरूर सुना है कि इस तरह की चर्चाएं हो रही हैं और अमर सिंह जी का नाम शामिल किया गया है। रहा सवाल टिकटों की घोषणा का तो ये भी संसदीय बोर्ड तय करता है।

Next Story
Share it