Top
Jan Shakti

अपने आप को फकीर कहने वाले PM के लिए 8458 करोड़ रुपये की लागत से आज आ रहा है स्पेशल विमान, जानिए क्या है विमान खासियत

भारत में एक साथ दो बोइंग 777-300ER (Boeing 777-300ER) विमान आ रहे हैं, जिसका इस्तेमाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi), राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) करेंगे. अभी तक ये सभी लोग एअर इंडिया के बोइंग बी 747 विमान का इस्तेमाल करते हैं.

अपने आप को फकीर कहने वाले PM के लिए 8458 करोड़ रुपये की लागत से आज आ रहा है स्पेशल विमान, जानिए क्या है विमान खासियत
X

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) का विशेष विमान बोइंग 777-300ER (Boeing 777-300ER) आज भारत में उतरने वाला है. अमेरिकी राष्ट्रपति (US President) के एयरफोर्स वन जैसी क्षमताओं से लैस इस विमान में कई तरह की खूबिया हैं. इस विमान की खास बात ये है कि इस पर किसी भी मिसाइल (Missile) का असर नहीं होता है. बता दें कि लंबी दूरी के ये दो बोइंग 777-300ER विमान भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होंगे ना कि एअर इंडिया को मिलेंगे..

भारत में एक साथ दो बोइंग 777-300ER विमान आ रहे हैं, जिसका इस्तेमाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू करेंगे. अभी तक ये सभी लोग एअर इंडिया के बोइंग बी 747 विमान का इस्तेमाल करते हैं. बताया जाता है कि सुरक्षा के मामले में ये विमान अमेरिका के राष्ट्रपति के विमान के बराबर है. इस विमान की खास बात ये होगी कि ये ईंधन भरने के बाद बिना रुके भारत और अमेरिका के बीच उड़ान भर सकेगा.

777-300ER विमान पूरी तरह से अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान की कॉपी लगता है. अमेरिकी राष्ट्रपति का विमान एयरफोर्स वन 35,000 फीट की ऊंचाई पर 1,013 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है और इस विमान की भी यही खासियत है. ये विमान एक बार मे 6800 मील की दूरी तय कर सकता है और अधिकतम 45,100 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है.

बेहतरीन खूबियों से है लैस है यह विमान

'बख्तरबंद' बोइंग 777 (Air India One) एक बार ईंधन भरने पर यह अमेरिका से भारत तक की लंबी उड़ान भर सकता है। इस दो नए सुपर वीआईपी प्लेन को आने वाले समय में एयर इंडिया नहीं बल्कि एयरफोर्स ऑपरेट करेगी। सूत्रों का कहना है कि इसका कॉल साइन एयरफोर्स-वन रखा जा सकता है।

कलर से लेकर सुरक्षा का पूरा ख्याल

इसमें तीन तरह के रंगों का इस्तेमाल किया गया है। इनमें से दो रंग अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन से मिलते-जुलते हैं। सूत्रों का कहना है कि बोइंग-777 में जो रंग इस्तेमाल किया गया है।इनमें सफेद, हल्का नीला और नारंगी रंग है। हल्का नीला और सफेद रंगं का इस्तेमाल अधिक किया गया है जबकि नारंगी रंग की हवाई जहाज के बीच में लाइन दी गई है। देखने में यह बहुत सुंदर लग रहा है।

900 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरता है प्‍लेन

अमेरिकी राष्‍ट्रपति का विमान एयरफोर्स वन 35,000 फीट की ऊंचाई पर 1,013 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है। एयरफोर्स वन 35,000 फीट की ऊंचाई पर 1,013 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है।एकबार में यह विमान 6,800 मील की दूरी तय कर सकता है। विमान अधिकतम 45,100 फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। इस विमान के उड़ान के दौरान प्रतिघंटा 1,81,000 डॉलर (करीब 1 करोड़ 30 लाख रुपये) की लागत आती है। वहीं पीएम मोदी का नया विमान करीब 900 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरता है।

विमान की कीमत और ताकत भी जान लीजिए

इस विमान को एयरफोर्स के पायलट उड़ाएंगे। दोनों विमानों की कीमत करीब 8458 करोड़ रुपये है। बेहद सेफ इस जहाज के अगले हिस्से में जैमर लगा है जो दुश्मन के रेडार सिग्नल को जाम कर देता है। इस पर मिसाइल हमले का भी असर नहीं होता। खबरों के अनुसार इस विमान में हवा में ही ईंधन भरने की क्षमता होगी। साथ ही यह विमान एक बार में भारत से अमेरिका तक की दूरी के बीच उड़ान भर सकेगा।

एयरफोर्स के हाथ में होगी बोइंग 777-300ER की जिम्मेदारी

अभी तक देश के प्रधानमंत्री के विमान को उड़ाने की जिम्मेदारी एयर इंडिया के पास थी लेकिन इस नए विमान को एयरफोर्स के पायलट उड़ाएंगे. दोनों विमान की कीमत करीब 8458 करोड़ रुपये बताई जा रही है. इस विमान की सुरक्षा ही इसे और विमानों से अलग बनाती है. इस विमान में किसी भी मिसाइल का कोई असर नहीं होता है. खबरों के मुताबिक इस विमान में हवा में ही ईंधन भरने की क्षमता है.

Next Story
Share it