Janskati Samachar

Karwa Chauth Vrat 2020 Paran: जानिए बताशा खाकर ही क्यों तोड़ना चाहिए करवा चौथ का व्रत?

Karwa Chauth Vrat 2020 Paran: करवा चौथ की शाम को महिलाएं अक्सर कोई भी मिठाई खाकर पारण कर लेती हैं लेकिन आपको बताशा खाकर पारण करना चाहिए. आखिर ऐसा क्यों कहा जाता है और क्यों चांद को देखने के बाद पति को देखने का प्रचलन है ये हम इस कॉपी में आपको बताने जा रहे हैं.

Karwa Chauth Vrat 2020 Paran: जानिए बताशा खाकर ही क्यों तोड़ना चाहिए करवा चौथ का व्रत?
X

Karwa Chauth Vrat 2020 Paran: पति पत्नी के बीच प्रेम और आपसी सौहार्द का त्योहार करवा चौथ गुरुवार को देशभर में मनाया जाएगा. करवा चौथ का व्रत भले ही निर्जला रहता हो लेकिन पत्नियां साल भर इस दिन का इंतजार करती हैं. सारा दिन उनके चेहरा खुशी और उत्साह से खिला रहता है क्योंकि उनको पता है कि आज पति का सारा ध्यान और उनका स्नेह सिर्फ और सिर्फ उनके लिए होगा. करवा चौथ का सांस्कृतिक महत्व तो है ही, इसका साइकलॉजिकल महत्व भी है. कहते हैं करवा चौथ का त्योहार पति पत्नी के आपसी रिश्ते को मजबूत करता है. आज इस कॉपी के जरिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि करवा चौथ का व्रत आपको क्या खाकर खोलना चाहिए.

सबसे पहले साइंटिफिक कारण जान लीजिए कि करवा चौथ पर सारा दिन फॉस्ट रखने से हमारे शरीर में होता क्या है. सारा दिन फास्ट रखने की वजह से हमारा शरीर डिटॉक्स होता जो हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है. इसके साथ ही चांद को देखकर पति को देखने की प्रथा है. आपने कभी सोचा कि चांद को देखकर पति को क्यों देखा जाता है? इसके पीछे कारण ये है कि जब हम चांद को देखते हैं तो हमें शांति मिलती है क्योंकि चांद शांति का प्रतीक होता है.

अक्सर होता है कि चांद देखने के बाद महिलाएं पति के हाथ से कुछ भी खाकर व्रत तोड़ लेती हैं लेकिन हमारी सलाह ये है कि आपको बताशा खाकर व्रत तोड़ना चाहिए और वो भी आपको एक बार में पूरा बताशा खाकर व्रत तोड़ना चाहिए. कहा जाता है कि जबतक हम खुद पूरे नहीं हैं तबतक हम दूसरों को भी खुशी नहीं दे सकते इसलिए आपको पारण के लिए बताशे का इस्तेमाल करना चाहिए. इसके अलावा आप चाहें तो फल खाकर या जूस पीकर भी व्रत खत्म कर सकती हैं. करवा चौथ के अगले दिन आपको थकान और नींद आने की पूरी संभावना है इसलिए अगले दिन कोई महत्वपूर्ण काम शेड्यूल ना करें.


Next Story
Share it