Top
Janskati Samachar

वॉरेन बफेट का जीवन परिचय | Warren Buffett Biography in Hindi

Warren Buffett Biography in Hindi |

Warren Buffett Biography in Hindi
X

Warren Buffett Biography in Hindi

वॉरेन बफेट का जीवन परिचय | Warren Buffett Biography in Hindi

  • नाम वॉरेन एडवर्ड बफेट
  • जन्म 30 अगस्त, 1930
  • जन्मस्थान ओमाहा, नेब्रास्का, अमेरिका
  • पिता हावर्ड बफेट
  • माता लीला स्टाल बफेट
  • पत्नी सुसान थॉम्पसन
  • पुत्र हॉवर्ड ग्राहम & पीटर बफेट
  • पुत्री ऐलिस बफेट
  • शिक्षा विज्ञान स्नातक
  • व्यवसाय व्यापारी, निवेशक
  • नागरिकता अमेरिका

अमेरिकी उद्योगपति वॉरेन बफेट (Warren Buffett Biography in Hindi)

अमेरिका के सफल व्यापारी वारेन बफेट (Businessman Warren Buffett) को पूरी दुनिया जानती है, साथ वो बर्कशायर हैथवे कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (CEO) भी हैं। वारेन बफेट बचपन में घर-घर जाकर न्यूज़पेपर पहुँचाने का काम करते थे, बाद में उनकी सफलता ने उनको पूरी दुनिया का प्रेरणा स्त्रोत बनाया। आज वारेन बफेट पूरी दुनिया में इन्वेस्टमेंट और व्यापार के लिए प्रख्यात हो चूका है।

प्रारंभिक जीवन (Warren Buffett Early Life)

शेयर बाजार के शहेनशाह वारेन बफेट (Investors Warren Buffett)का जन्म 30th अगस्‍त, साल 1930 को अमेरिका के ओमाहा नेब्रास्‍का के एक गाव में हुआ था। उनके के पिताजी का नाम हावर्ड बफेट और उनके माताजी का नाम लीला स्‍टॉल था। वोरेन बफेट के व्यापार और शेयर बाजार निवेशक का ज्ञान उनको विरासत में मिला था क्योकि उनके पिताजी भी शेयर बाजार में एक निवेशक और सलाहकार के तोर पर व्यवसाय किया करते थे। I

बचपन मे 11 साल कि उम्र मे वॉरेन बफेट (Warren Buffett Biography in Hindi) घर-घर जाकर न्यूज़पेपर पहुचाने का काम किया करते थे। इससे उनकी कमाइ सिर्फ 180 डॉलर महिने की थी। इस कमाइ से कुछ रुपये बचते थे उन रुपयो क वो कही ना कही निवेश कर देते थे। वही से उनका निवेशक के प्रति रूचि ओर ज्ञान प्राप्त हो गया।

शिक्षा (Warren Buffett Education)

वॉरेन बफेट ने वॉशिंगटन के वूड्रो विल्सन हाई स्कूल से अपनी शुरुआती शिक्षा प्राप्त की, उनके पिता ने बहोत समझाकर आगे की पढाई करवाई क्योकि, जब वॉरेन बफेट पढ़ रहे थे तब से उनका मन में बिज़नेस के प्रति बहोत रुचि होने लगी थी, इसीलिये उनको पढाई ज्यादा मन नहीं लग रहा था। इसके बाद की शिक्षा वॉरेन ने पेन्सिल्वेनिया यूनिवर्सिटी में कुछ समय जाकर बाद में अधूरी छोड़ दी।

बाद में फिर से वो नेब्रास्का के लिंकन यूनिवर्सिटी दाखिल हुए और वहा से उन्होंने ग्रेजुएशन पूर्ण किया, इसके बाद आगे की पढाई के लिए उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढने के लिए दाखिल होने की कोशिश की लेकिन छोटी आयु होने के कारण उनका दाखिला रिजेक्ट हो गया।

शादी (Warren Buffett Marriage)

साल 1952 में 22 साल की उम्र में वारेन बफेट का विवाह सुसान थॉम्‍पसन नामक एक लड़की के साथ हो गया। विवाह के बाद उन दोनो को तिन बच्चे हुये, जिसमे एक पुत्री का नाम एलिस बफेट, और दो पुत्र का नाम हावर्ड और पीटर रखा।

बिज़नेस करियर (Warren Buffett Business Career)

वॉरेन बफेट बेंजामिन ग्राहम की एक कंपनी में नौकरी करने से शुरुआत की। इस नौकरी में उन्‍हें 12,000 डॉलर पगार मिलता था। इस नौकरी से बफेट को व्यवसाय और शेयर बाजार के सही तरीके जानने का बहोत अनुभव मिला।

बेंजामिन ग्राहम ने बफेट के आने के 2 वर्ष बाद यह कंपनी में से निवृति ले ली। बेंजामिन की निवृति के बाद वारेन ने भी यह कंपनी छोड़कर खुद का व्यवसाय आरंभ कर दिया। वॉरेन बफेट ने शुरूआत में एक निवेश फर्म के लिए लिमिटेड कंपनी से शुरुआत की। इसी कंपनी से कमाई के बाद उन्होंने अपना पहला घर भी खरीदा, इसके बाद वॉरेन बफेट ने शेयर बाजार और व्यवसाय से करोड़पति बन गए।

बफेट ने 35 साल की उम्र में बर्कशायर हैथवे कंपनी का शेयर्स खरीदना शुरू कर दिया। इस कंपनी का उन्होंने इतना शेयर ख़रीदा की इस कंपनी का नियंत्रण अपने हाथों में ही ले लिया। फ़िलहाल वॉरेन बफेट इस कंपनी का चीफ एक्जेक्यूटिव ऑफिसर है।

उन्होंने बर्कशायर हैथवे कंपनी का CEO बनाते ही कई बदलाव किये और इस कंपनी का नफा गई गुना बढ़ गया। इस कंपनी के बढ़ौती के साथ बफेट इतना अमीर हो गया की वे इस दुनिया के अरब पतियों की सूचि में शामिल हो गए। वॉरेन बफेट 1970 की दशक में पहली बार दुनिया के नजरो में आये, और साल 1979 में वॉरेन का नाम पहली बार फोर्ब्‍स की अमीरों की सूची में आया।

निवेशक और व्यवसाय के दुनिया में सफलता के बाद वॉरेन ने 2008 में दुनिया के सबसे अमीर बिज़नेसमेन बिल गेट्स को पीछे रखते हुए वह दुनिया के सबसे बड़े अमीर बन गया। इसके कुछ समय बाद उन्होंने 75 साल की उम्र में व्यवसाय से निवृती की घोषणा कर सेवानिवृत हो गए।

सामाजिक कार्य (Warren Buffett Social Work)

सेवानिवृति के बाद वॉरेन बफेट ने उनके द्वारा कमाए गए कुछ पैसो को दान में देकर यह साबित कर दिया की सिर्फ पैसा कमाने के अलावा सामाजिक कार्य भी करना चाहिए। वॉरेन ने अपना पैसा दान देते हुए कहा था कि कुछ पैसा सामाजिक कार्य करना चाहिए और यह भी एक बड़ा निवेश ही है, जिससे कई जरूरियात मंद लोगो को काम आ सके और लाखो जिंदगिया बदल सके।

Next Story
Share it