Top
Janskati Samachar

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रुस ली का जीवन परिचय

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रूस ली विश्व के महान मार्शल आर्टिस्ट होने के साथ साथ होन्ग कोंग और अमेरिका के अभिनेता, निर्माता, निर्देशक, पटकथा लेखक और जीत कुन डो मार्शल आर्ट के संस्थापक भी हैं। इन्होंने अपने काम से बहुत ही कम समय में लोगों के दिलों में जगह बना ली थी। जिससे वे हमेशा के लिए सबसे बेहतर मार्शल आर्टिस्ट में से एक कहे जाने लगे।

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रुस ली का जीवन परिचय
X

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रुस ली का जीवन परिचय

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रुस ली का जीवन परिचय

  • पूरा नाम ब्रुस ली
  • जन्म 27 नवंबर 1940
  • जन्मस्थान अमरिका
  • पिता ली होई -च्युएन
  • माता ग्रेस हो
  • पत्नी लिंडा ली कैडवेल
  • पुत्र ब्रैंडन ली
  • पुत्री शैनन ली
  • व्यवसाय एक्टर, डायरेक्टर, मार्शल आर्ट्स इंस्ट्रक्टर
  • पुरस्कार हांगकांग फिल्म अवार्ड
  • राष्ट्रीयता अमेरिकी, हाँग काँग

मार्शल आर्टिस्ट ब्रुस ली (Bruce Lee Biography in Hindi)

Bruce Lee Biography in Hindi | ब्रूस ली विश्व के महान मार्शल आर्टिस्ट होने के साथ साथ होन्ग कोंग और अमेरिका के अभिनेता, निर्माता, निर्देशक, पटकथा लेखक और जीत कुन डो मार्शल आर्ट के संस्थापक भी हैं। इन्होंने अपने काम से बहुत ही कम समय में लोगों के दिलों में जगह बना ली थी। जिससे वे हमेशा के लिए सबसे बेहतर मार्शल आर्टिस्ट में से एक कहे जाने लगे।

प्रारंभिक जीवन (Bruce Lee Early Life)

ब्रूस ली का जन्म 27 नवेम्बर, 1940 में यूएस के सेन फ्रांसिस्को के चाइनाटाउन में ली जुन-फेन के रुप में एक संपन्न और आर्थिक रुप से मजबूत परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम ली होई छुंए था, वो होंग कोंग में ओपेरा सिंगर के तौर पर काम करते थे। और फिल्म बैकग्राउंड से जुड़े हुए थे। जबकि उनकी माता का नाम ग्रेस था। जब वे बेहद छोटे थे, तभी उनका परिवार होंग-कोंग में शिफ्ट हो गया था। ब्रूस ली के अलावा उनके चार भाई और बहन भी थे। ब्रूस ली की शुरु से ही दिलचस्पी मार्शल आर्टस को सीखने में थी। वहीं इसके लिए उनके पिता ने भी उन्हें काफी प्रोत्साहित किया था।

शिक्षा (Bruce Lee Education) :

ब्रूस ली ने अपनी शुरुआती पढ़ाई ला सल्ले कॉलेज से की थी। इस स्कूल में उनका खराब प्रदर्शन के चलते, उन्हें वहां से निकाल कर सेंट फ्रांसिस जेवियर्स कॉलेज में डाल दिया गया था। इसके बाद वे होंग कोंग छोड़कर सीएटल चले गए और जहां ब्रूस ली ने एडिसन टेक्नीक स्कूल में अपनी आगे की पढ़ाई की। फिर 1961 में उन्होंने वांशिंगटन यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया। हालांकि बाद में मार्शल आर्टस में कैरियर बनाने के लिए उन्होंने कॉलेज छोड़ दिया था।

निजी जीवन (Bruce Lee Married Life)

उनको एक नौकरी भी मिली थी, जिसमे वे होंग कांग में सीखे हुए, मार्शल आर्ट के विंग चुन स्टाइल का ट्रेनिंग दिया करते थे, इसी बिच उनकी मुलाकात लिंडा एमरी से हुई, जिससे 1964 में ली नें विवाह किया, शादी के बाद दोनों को ब्रैंडन ली और शनन ली नाम के बच्चे भी हुए।

फिल्मी करियर (Bruce Lee Filmy Career)

ब्रूस ली ने अपने करियर की शुरुआत से पहले एक बच्चे के रूप में मोनोसिलेबिक शब्दों को बोलना सीखा, इनके पिता जोकि एक केंटोनीज़ ओपेरा स्टार थे। जो फिल्म बैकग्राउंड से जुड़े हुए थे, जहाँ से इनके करियर की शुरुआत हुई। वे सिर्फ तीन महीने के थे, जब इन्होंने अपनी पहली फिल्म 'गोल्डन गेट गर्ल' की।

अभिनय के बीच वे थोड़ा समय निकाल कर अपने मार्शल आर्ट में भी ध्यान दिया करते थे। उन्होंने यह महसूस किया, कि पारम्परिक मार्शल आर्ट तकनीक में वे बहुत कठोर थे। बाद में उन्होंने उस वक्त लगभग 18 से 20 फिल्में की।

मार्शल आर्ट करियर (Bruce Lee Martial Arts Career)

1959 से 1964 तक अभिनय करने के बाद उन्होंने अपने अभिनय करियर को छोड़ दिया और मार्शल आर्ट को अपना पेशा बनाया। उन्होंने यह कुंग-फु के शिक्षक के रूप में शुरू किया। अपने समय के साथ, उन्होंने सीएटल में ही अपना खुद का एक मार्शल आर्ट स्कूल खोला, जिसका नाम 'ली जुन फेन गुंग फु इंस्टिट्यूट' था।

1964 में ली ने लॉन्ग बीच अंतर्राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में हिस्सा लिया, जहाँ उन्हें उनके '2 – फिंगर पुश अप' और 'वन इंच पंच' ने लोकप्रिय बना दिया। इसके बाद ये वहाँ गये जहाँ इनकी मुलाकात तायक्वोंडो मास्टर झूँ गू री से हुई, वहाँ उन दोनों की तुरंत दोस्ती हुई, और दोनों कलाकारों के लिए यह लाभकारी भी रहा।

उन्होंने 1967 में एक इवेंट में बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया। लॉन्ग बीच कराटे चैंपियनशिप में उनके असाधारण प्रदर्शन के चलते उन्हें हॉलीवुड निर्देशकों की सुर्ख़ियों में लाया गया। एक परिपक्व वयस्क के रूप में उनके अभिनय का पहला कार्यकाल टीवी सीरीज 'दी ग्रीन होर्नेट' में था।

उन्होंने एक नई प्रणाली बनाई, जिसमें उन्हें व्यावहारिकता, लचीलापन, गति और दक्षता जैसे लक्षण में तैयार होने की जरुरत थी। ऐसा तब हुआ जब जीत कुंग डो ने इंटरसेप्टिंग फिस्ट का रास्ता तैयार किया 1969 में वे फिल्म 'मार्लोव' में बतौर मेहमान के रूप में गए।

हालाँकि उनमें बायसनेस और महत्वपूर्ण भूमिका की कमी 1971 की गर्मियों में होंग कोंग के लिए लोस एंजेल्स छोड़ने से हुई। होंग कोंग पहुँचने पर ली ने दो फिल्में साइन की, 1972 में फिल्म 'वे ऑफ़ ड्रैगन' में एक लड़ाई के सीन के वे एक अभिनेता, लेखक, निर्देशक, स्टार और कोरियोग्राफर सब थे। इस तरह इनका फिल्म और मार्शल आर्ट में करियर रहा।

ब्रूस ली की मुख्य फिल्मे (Bruce Lee Film List)

फ़िएस्ट ऑफ़ फुरिस (Fists of Fury)

द ग्रीन होर्नेट (The Green Hornet)

द चैनिस कनेक्शन (The Chinese Connection)

एंटर द ड्रैगन (Enter the Dragon)

ब्रूस ली के अनमोल वचन (Bruce Lee Quotes)

हमेशा रियल रहो, खुद को पेश करो, खुद पर विश्वास रखो, बाहर जाकर किसी अन्य सफल व्यक्तित्व को मत तलाशो और इसकी नक़ल मत करो।

एक बुद्धिमान शख्स एक मुर्ख के सवाल से बहुत कुछ सीख सकता है, लेकिन एक मुर्ख एक बुद्धिमान के जवाब से कुछ भी नहीं सीख सकता है।

अगर आप वाकई में अपनी जिंदगी से प्यार करते हैं। तो वक्त को बर्बाद न करें, क्योंकि वो वक्त ही है, जिससे जिंदगी बन सकती है।

किसी भी चीज पर अपना अधिकार करना दिमाग से शुरु होता है।

अगर आप किसी चीज के बारे में सोचने से काफी वक्त जाया तकते हैं, तो निश्चित ही आप उसे कभी नहीं कर पाएंगे।

पुरस्कार और सम्मान (Bruce Lee The Honors)

2013 में मरणोपरांत उन्हें एशियाई अवॉर्ड्स में प्रतिष्ठित फाउंडर अवॉडर्स से नवाजा गया था।

ब्रूस ली को मरणोपरांत टाइम मैग्जीन द्धारा 20वीं सदी के 100 सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शुमार किया गया था।

2013 में मार्शल आर्ट्स के क्षेत्र में ब्रूस ली के उल्लेखनीय योगदानों के चलते चीन के गुंगज्होई में 7 फुट लंबी उनकी विशाल प्रतिमा बनाई गई।

मृत्यु (Bruce Lee Death)

20 जुलाई 1973 को ब्रूस ली अपनी फिल्म 'द गेम ऑफ़ डेथ' के लिए कार्य कर रहे थे। यह कार्य हांगकांग में किया जा रहा था। तब बेचैनी की दवा लेने के बाद इन्होंने विश्राम किया, और इसी दौरान इनकी मृत्यु हो गई।

Next Story
Share it