Janskati Samachar

Deepak Chahar Biography – चैपल ने दी थी क्रिकेट छोड़ने की सलाह, अपनी मेहनत से दीपक चाहर बने सफल क्रिकेटर

Deepak Chahar Biography – दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी दीपक चाहर के बारे में. दाहिने हाथ के मध्यम क्रम के गेंदबाज दीपक चाहर उन खिलाड़ियों में से एक हैं, जिनके बारे में कहा जाता है कि यह आगे चलकर एक बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं.

Deepak Chahar (Cricketer) Height, Age, Girlfriend, Wife, Deepak Chahar Biography, Who is the wife of Deepak Chahar?, deepak chahar biography in hindi.
X

Deepak Chahar (Cricketer) Height, Age, Girlfriend, Wife, Deepak Chahar Biography, Who is the wife of Deepak Chahar?, deepak chahar biography in hindi. दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी दीपक चाहर के बारे में. दाहिने हाथ के मध्यम क्रम के गेंदबाज दीपक चाहर उन खिलाड़ियों में से एक हैं, जिनके बारे में कहा जाता है कि यह आगे चलकर एक बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं. दीपक चाहर ने अब तक अपने प्रदर्शन से सभी लोगों का ध्यान आपनी तरह खिंचा हैं. हालाँकि बहुत कम लोगों को पता होगा कि किसी समय भारतीय क्रिकेट टीम के कोच ग्रेग चैपल ने दीपक चाहर को क्रिकेट छोड़ने तक की सलाह दे दी थी, लेकिन दीपक चाहर ने अपनी मेहनत से उन्हें गलत साबित किया.

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम दीपक चाहर और ग्रेग चैपल के बीच हुए उस किस्से की तो बात करेंगे ही, साथ ही जानेंगे कि दीपक चाहर कौन है?, दीपक चाहर कहाँ के रहने वाले हैं?, दीपक चाहर की पत्नी कौन है? और उनका अब तक का क्रिकेट करियर कैसा रहा? तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं दीपक चाहर का जीवन परिचय.

दीपक चाहर जीवनी (Deepak Chahar Biography)

दीपक चाहर का जन्म 7 अगस्त 1992 को उत्तरप्रदेश के आगरा में हुआ था. वैसे दीपक चाहर मूल रूप से राजस्थान के गंगानगर के रहने वाले हैं. दीपक चाहर के पिता का नाम लोकेंद्र चाहर है. लोकेंद्र चाहर एक रिटायर एयरफ़ोर्स ऑफिसर हैं.

दीपक चाहर करियर (Deepak Chahar Career)

दीपक चाहर के करियर में उनके पिता लोकेंद्र चाहर का सबसे बड़ा योगदान है. दरअसल दीपक चाहर का बचपन से ही क्रिकेट से खास लगाव था. लोकेंद्र चाहर भी अपने बेटे को क्रिकेटर बनाना चाहते थे. इसके लिए लोकेंद्र चाहर ने साल 2006 में एयरफोर्स की जॉब दी. इसका कारण यह था कि वह अपने बेटे पर ध्यान नहीं लगा पा रहे थे. वह रोजाना अपने बेटे को 50 किलोमीटर दूर हनुमानगढ़ क्रिकेट एकेडमी में क्रिकेट सीखने के लिए ले जाते थे. वहां दीपक चाहर ने अपने कोच नवेंदु त्यागी से क्रिकेट की बारीकियां सीखी.

दीपक चाहर ने अपने फर्स्ट क्लास करियर की शुरुआत हैदराबाद के खिलाफ की थी. जयपुर की तरफ से खेलते हुए दीपक चाहर ने हैदराबाद के खिलाफ 10 रन देकर 7.3 ओवर में उन्होंने 8 विकेट लिए. उनके इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत हैदराबाद की टीम महज 21 रनों पर सिमट गई.

दीपक चाहर अच्छा खेल ही रहे थे कि वह अचानक बीमार पड़ गए. इसके बाद उन्हें रणजी सीजन में खेलने का मौका मिला, लेकिन वह चोंटिल हो गए. इस तरह दीपक चाहर काफी समय तक क्रिकेट से दूर रहना पड़ा. इसके बाद दीपक चाहर की काबिलियत को देखते हुए 2011-12 में आईपीएल में राजस्थान ऱॉयल्स ने उन्हे अपनी टीम में शामिल किया, लेकिन खेलने का मौका नहीं मिला. इसके बाद अपनी फिटनेस के कारण दीपक चाहर दो साल तक किसी टीम में शामिल नहीं हो सके.

साल 2016-17 में दीपक चाहर को राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने ख़रीदा, लेकिन यहाँ भी उन्हें ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला. इसके बाद दीपक चाहर की किस्मत बदली साल 2018 में, जब चेन्नई सुपरकिंग्स ने दीपक चाहर को 80 लाख रुपए में ख़रीदा. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में दीपक चाहर ने पूरे आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया और कई बार अपनी टीम की जीत में अहम् भूमिका भी निभाई. इसके बाद दीपक चाहर ने आईपीएल के अगले सीजन में भी अच्छा प्रदर्शन किया. आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन का जल्द ही दीपक चाहर को इनाम मिला और उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का मौका मिला. इस तरह दीपक चाहर का भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से खेलने का सपना पूरा हुआ. दीपक चाहर ने अपना पहला अंतराष्ट्रीय वनडे मैच एशिया विश्वकप में अफगानिस्तान के खिलाफ खेला था.


दीपक चाहर और ग्रेग चैपल

अब बात करते हैं दीपक चाहर और किसी समय भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रहे ग्रेग चैपल के बारे में. दरअसल राजस्थान के हनुमानगढ़ में प्रैक्टिस के दौरान चाहर की मुलाकात कोच ग्रेग चैपल से हुई थी. उस समय दीपक चाहर की गेंदबाजी देखकर ग्रेग चैपल ने उन्हें क्रिकेट छोड़ने की सलाह तक दे डाली थी. हालांकि दीपक चाहर किसी भी हाल में अच्छा क्रिकेटर बनना चाहते थे और इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत भी की. दीपक चाहर के अनुसार उनके प्रदर्शन को सुधारने में महेंद्र सिंह धोनी का बड़ा योगदान है.

दीपक चाहर का परिवार (deepak chahar family)

दीपक चाहर के पिता का नाम लोकेन्द्र सिंह चाहर एक रिटायर एयरफ़ोर्स ऑफिसर है. दीपक चाहर की माता पुष्पा चाहर हैं. दीपक चाहर की दो बहनें संजना चाहर और मालती चाहर हैं. संजना चाहर चिकित्सा क्षेत्र में हैं जबकि मालती चाहर मॉडल, एक्टर, और मिस इंडिया 2014 की फाइनलिस्ट भी रह चुकी हैं. दीपक चाहर अभी तक कुंवारे हैं.

Next Story
Share it