Top
Janskati Samachar

Pushpam Priya Choudhary Wiki, Age, Caste, Boyfriend, Family, Biography in Hindi पुष्पम प्रिया चौधरी विकी, आयु, जाति, प्रेमी, परिवार, जीवनी हिंदी में

Pushpam Priya Choudhary Wiki, Age, Caste, Boyfriend, Family, Biography in Hindi: पुष्पम प्रिया चौधरी जनता दल यूनाइटेड के एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं। मार्च 2020 में, उसने तब सुर्खियाँ बटोरीं जब उसने खुद को 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव के लिए "मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार" घोषित किया।

Pushpam Priya Choudhary Wiki, Age, Caste, Boyfriend, Family, Biography in Hindi पुष्पम प्रिया चौधरी विकी, आयु, जाति, प्रेमी, परिवार, जीवनी हिंदी में
X

Pushpam Priya Choudhary Wiki, Age, Caste, Boyfriend, Family, Biography in Hindi: पुष्पम प्रिया चौधरी जनता दल यूनाइटेड के एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं। मार्च 2020 में, उसने तब सुर्खियाँ बटोरीं जब उसने खुद को 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव के लिए "मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार" घोषित किया।

जीवनी

पुष्पम प्रिया चौधरी का जन्म बिहार के दरभंगा में 13 जून (वर्ष का पता नहीं है) में हुआ था। उन्होंने अपना अधिकांश बचपन दरभंगा में बिताया। उच्च अध्ययन के लिए, प्रिया लंदन चली गईं। वह इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज, यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स, यूके से एमए की डिग्री रखती है। प्रिया ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस, यूके से मास्टर ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री भी हासिल की है।

पुष्पम प्रिया चौधरी लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस, यूके में

परिवार और जाति

प्रिया का जन्म बिहार के दरभंगा में एक हिंदू परिवार में हुआ था। उनके पिता, विनोद चौधरी जनता दल यूनाइटेड के पूर्व एमएलसी हैं।


व्यवसाय

पुष्पम प्रिया चौधरी ने 8 मार्च 2020 को सक्रिय राजनीति में प्रवेश किया जब उन्होंने एक पूर्ण-पृष्ठ विज्ञापन में बिहार के मुख्यमंत्री पद के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की, जो बिहार के कई हिंदी और अंग्रेजी अखबारों में छपी। इस विज्ञापन में उन्होंने खुद को प्रिया द्वारा शुरू की गई एक राजनीतिक पार्टी के अध्यक्ष के रूप में उल्लेख किया है। विज्ञापन में, मिस चौधरी ने बिहार के लिए विकास का वादा किया और लोगों से प्रतिष्ठान के खिलाफ मतदान करने को कहा। टैग-लाइन के साथ "प्लुरल्स आ गया है," प्रिया ने बिहार के लोगों से अपनी पार्टी में शामिल होने की अपील की अगर वे अपने राज्य से प्यार करते हैं और पारंपरिक राजनीति से नफरत करते हैं।

पुष्पम प्रिया चौधरी जिसने पिछले मार्च महीने में एक साथ सभी अखबारों में विज्ञापन जारी कर खुद को बिहार के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया था. जिसके बाद से वह चर्चा में आ गई थीं. पुष्पम प्रिया चौधरी वो नाम है, जिसकी चर्चा ना सिर्फ बिहार में बल्कि दिल्ली तक हो रही है.

परिवार और शिक्षा – Pushpam Priya Choudhary Biography in Hindi

प्रिया मूल रूप से दरभंगा जिले के विशनपुर गांव की रहने वाली हैं. पुष्पम प्रिया जो कि प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष हैं. इनके पिता विनोद चौधरी जो कि जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और विधान परिषद के सदस्य रह चुके हैं. प्लूरल्स पार्टी की वेबसाइट के अनुसार प्रिया ने लंदन के मशहूर लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री हासिल की हैं. उन्होंने इंग्लैंड के द इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज विश्वविद्यालय से डेवलपमेंट स्टडीज में भी मास्टर्स किया है.

10 वर्षों में बिहार की सूरत बदलने का वादा – Pushpam Priya Choudhary Biography in Hindi

इनकी पार्टी का लोगो सफेद घोड़ा, जिस पर पंख लगे हुए हैं. इस लोगों को शक्ति और तीव्रता का प्रतीक माना गया है. इनकी पार्टी का नारा है 'जन गण सबका शासन'. पुष्पम का कहना है कि वह राज्य के विकास लिए हमेशा सकारात्मक राजनीति करेंगी. बिहार की मुख्यमंत्री बनने के बाद वह अगले 10 वर्षों में बिहार के देश का सबसे विकसित राज्य बना देंगी.

साल 2030 तक बिहार यूरोपीय देशों के समान बन जाएगा. वो कहती हैं कि बिहार को बेहतर की जरूरत है और यह संभव भी है. इन्होंने बिहार में चर्चा और लोकप्रियता हासिल कर ली है. वह बिहार के हर जिलों का दौरा कर स्थानीय मुद्दों को उठाते हुए जनता को जागरूक करने में जुटी हैं. वह बिहार के विभिन्न इलाकों में घूम कर बच्चों, युवाओं, लड़कियों और महिलाओं से मिल रही हैं. इस दौरान वो लोगों को आश्वस्त करने का प्रयास कर रही हैं कि 30 साल से चल रहा बिहार के विकास का लॉकडाउन अब जरूर खत्म होगा.

पुष्पम का कहना है कि इनकी पार्टी का लक्ष्य साफ-सुथरी छवि वाले लोगों को साथ मिलकर आगामी 10 वर्षों में बिहार को देश के अग्रणी राज्यों में शामिल करना है. बिहार के विकास का रोडमैप भी तैयार है. प्लूरल्स पार्टी की मुद्दा विकास और रोजगार है.

यह पार्टी जाति और धर्म की राजनीति को नकारते हुए राज्य के सर्वांगीण विकास पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करेगी. समाज के सबसे निचले और वंचित तबके के लोगों को मुख्यधारा में लाया जाएगा. इनकी पार्टी में बहुत सारे उम्मीदवार ऐसे हैं जो एक्टिविस्ट हैं और किसी न किसी रूप में समाज से जुड़े हैं.

ज्यादातर काले कपड़ों में दिखती हैं पुष्पम – Pushpam Priya Choudhary Biography in Hindi

हमेशा काले कपड़ों में दिखने वाली पुष्पम प्रिया कहती हैं कि वैसे तो सारे नेता सफेद कपड़े ही पहनते हैं. लेकिन भारत के संविधान में नेताओं के लिए ऐसा कोई ड्रेस कोड निर्धारित नहीं है. इसलिए वह अपनी पसंद के कपड़े पहनती हैं और काला उनका सबसे फेवरेट रंग है.

खास बना रहा इनका कॉर्पोरेट स्टाइल – Pushpam Priya Choudhary Biography in Hindi

पुष्पम के चुनावी तरीकों को कॉर्पोरेट स्टाइल कहा जा रहा है लेकिन ऐसा क्यों? इसे कॉर्पोरेट कहने की दो कारण हैं. पहला कारण ये कि सफेद कुर्ता पायजामा पहनने वाले नेताओं से बिल्कुल अलग हैं. उनका फोकस सिर्फ अपने एजेंडे पर है. एक इंटरव्यू में उन्होंने दावा भी किया है कि वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सिवा दूसरे किसी भी नेता को फॉलो नहीं करती हैं. चाहे वो आरजेडी के तेजस्वी यादव हों या फिर एलजेपी के चिराग पासवान ही क्यों ना हो.

दूसरा कारण ये है कि उन्होंने अपनी जो प्लूरल्स नाम की पार्टी बनाई है, उसके दो विंग बनाए हैं. इसका पहला विंग पोलिटिकल और दूसरा विंग एग्जिक्यूटिव है. यानि प्रशासनिक कामकाज देखना. पुष्पम ने चुनाव में अपने उम्मीदवार भी खड़े कर दिए हैं. अपनी जीत को लेकर वो पूरी तरह आश्वस्त हैं. वह दो सीटों से चुनाव लड़ रही हैं. चुनावी मैदान में उनके खिलाफ एक सीट पर शत्रुध्न सिन्हा के बेटे हैं.

अब देखना है कि पुष्पम प्रिया चुनावी मैदान में किसे चुनौती देती हैं, नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव या फिर चिराग पासवान को? लेकिन इतना तो जरूर है कि लोग पुष्पम का नाम ले रहे हैं और वह काफी चर्चा में हैं.

वैसे तो पुष्पम राजनीति में नया चेहरे हैं और इनका नाम भी इन दिनों खूब चर्चा में है. लेकिन वह राजनीति से अनजान नहीं हैं. क्योंकि इनके परिवार के बहुत सारे लोगों का संबंध राजनीति से रहा है. उनके पिता विनोद कुमार चौधरी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के नेता हैं और वे एमएलसी रह चुके हैं. इनके चाचा भी जेडीयू के नेता हैं जबकि इनके दादाजी भी नीतीश के साथ ही रहे.

सोशल मीडिया पर हैं एक्टिव – Pushpam Priya Choudhary Biography in Hindi

अपने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर साझा करते हुए पुष्पम लिखती हैं कि उनकी पार्टी के सभी कार्यकर्ता, सभी प्रत्याशी और सभी समर्थक आप सभी घर-घर, गांव-गांव और शहर-शहर जाइए. वहां जाकर मेरे लिए हर परिवार से खोंयछा का कर्ज लेकर आइए, ये बिहार का कर्ज होगा. इसे चुकाते-चुकाते मर जाऊं लेकिन जन्म में चुके न, बिहार को नंबर वन और विकसित बनाकर भी.

तथ्य / सामान्य ज्ञान

  1. पुष्पम प्रिया चौधरी दरभंगा की रहने वाली हैं और लंदन में रहती हैं।
  2. पुष्पम प्रिया चौधरी ने 8 मार्च 2020 के रविवार की सुबह बिहार भर में लहरें भेजीं और एक नया राजनीतिक संगठन बनाया, जिसे "प्लुरल्स" कहा गया और 2020 के बिहार विधानसभा चुनावों में खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया।
  3. Plurals एक ऐसा मंच है जहाँ सभी लोग शासन करते हैं। "
  4. विज्ञापन में, प्रिया ने वादा किया कि बिहार 2025 तक देश का सबसे विकसित राज्य बन जाएगा और राज्य का विकास 2030 तक किसी भी यूरोपीय देश के बराबर होगा।
  5. प्रिया के पिता, विनोद चौधरी ने अपनी बेटी के नए राजनीतिक दल को चलाने के लिए सकारात्मक जवाब दिया और कहा कि उनका आशीर्वाद हमेशा उसके साथ रहेगा।
  6. पुष्पम प्रिया चौधरी जानवरों के प्रति दयालु हैं, और उनके पास एक पालतू कुत्ता है। वह अक्सर अपने पालतू कुत्ते के साथ तस्वीरें अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर शेयर करती रहती हैं।



प्रिया गांधीवादी सिद्धांतों में दृढ़ता से विश्वास करती हैं और अक्सर अपने सोशल मीडिया खातों के माध्यम से अपनी विचारधाराओं का समर्थन करती हैं।


प्रिया किसान अधिकारों की हिमायती हैं, जो अक्सर उनके सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से परिलक्षित होती है।


Pushpam Priya Choudhary Video






Next Story
Share it