Janskati Samachar

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | भारतीय महान क्रिकेटर सुनील गवास्कर विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों में से एक है। जिन्होंने भारत के लिए क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया। सुनील गावस्कर भारतीय टेस्ट इतिहास के महान सलामी बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। और सुनील गावस्कर ने क्रिकेट इतिहास में कई रिकॉर्ड बनाए, जो लंबे समय तक कायम रहे। सुनील गावस्कर को “सनी” के नाम से भी जाना जाता है।

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय
X

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय

  • पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर
  • निक नाम सनी, लिटिल मास्टर
  • जन्म 10 जूलाई, 1949
  • जन्मस्थान मुंबई, महाराष्ट्र
  • पिता मनोहर गावस्कर
  • माता मिनल गावस्कर
  • पत्नी मार्शनील
  • पुत्र रोहन गावस्कर
  • व्यवसाय भारतीय क्रिकेटर
  • पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार
  • नागरिकता भारतीय

भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar Biography in Hindi)

Sunil Gavaskar Biography In Hindi | भारतीय महान क्रिकेटर सुनील गवास्कर विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों में से एक है। जिन्होंने भारत के लिए क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया। सुनील गावस्कर भारतीय टेस्ट इतिहास के महान सलामी बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। और सुनील गावस्कर ने क्रिकेट इतिहास में कई रिकॉर्ड बनाए, जो लंबे समय तक कायम रहे। सुनील गावस्कर को "सनी" के नाम से भी जाना जाता है।

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा (Sunil Gavaskar Early Life)

सुनील गावस्कर का जन्म 10 जुलाई, 1949 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ था। उनका पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर है। इनके पिता का नाम मनोहर गावस्कर है, और माता का नाम मीनल गावस्कर है। सुनील ने अपनी शिक्षा सेंट जेवियर हाई स्कूल और किलासेंटएक्सएयर कॉलेज ऑटोनॉमस, मुंबई से की थी।

निजी जीवन (Sunil Gavaskar Married Life)

सुनील गावास्कर का विवाह मार्शनील के साथ हुआ। उनको एक पुत्र था। जिसका नाम रोहन गावस्कर है। उनका पुत्र रोहन भी रणजी ट्राफी के लिए क्रिकेट खेलता है। हालांकि उसने भारत के लिए कुछ एकदिवसीय भी खेले है लेकिन उसे ज्यादा सफलता नहीं मिली।

सुनील गावस्कर का करियर (Sunil Gavaskar Starting Career)

1966 में ही उन्होंने रणजी के मैंचो में अपना डेब्यू किया। कॉलेज में उनके खेल के लोग दीवाने हुआ करते थे। रणजी मैच में कर्नाटक के साथ खेलते हुए, उन्होंने फिर से दोहरा शतक लगाया, और चयनकर्ताओं को प्रभावित किया।

1971 के टूर के लिए उन्हें वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम के लिए चुना गया था। भारतीय क्रिकेट को जिस ओपनर बल्लेबाज़ की तलाश थी, उसकी सही खोज 1971 में पूरी हुई। जब सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध अद्वितीय प्रदर्शन किया। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

उस पहली शृंखला के चार टेस्ट मैचों में गावस्कर ने 774 रन बनाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया। पोर्ट आफ़ स्पेन के पाँचवें टेस्ट की पहली पारी में 124 और दूसरी पारी में 220 रन बनाकर वे विश्व विख्यात बल्लेबाज़ वाल्टर्स, ग्रेग चैपल और लारेन्स रौ की श्रेणी में आ खड़े हुए, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में दोहरा शतक बनाने का रिकार्ड क़ायम किया है।

बतौर कप्तान (Sunil Gavaskar As a Captain)

1975 में न्यूजीलैंड के दौरे के समय कपिल देव से कप्तानी लेकर गावस्कर को भारतीय टीम का नेतृत्व भी दिया, जिसमें भारत विजयी रहा। 1978 में वेस्टइंडीज़ की टीम ने भारत का दौरा किया था। उस समय उन्हें भारतीय टीम का कप्तान नियुक्त किया गया। उसमें सुनील गावस्कर ने एक साथ कई रिकार्ड और कीर्तिमान स्थापित किए।

  • वेस्टइंडीज के विरुद्ध 27 टैस्टों में 2749 रन
  • इंग्लैंड के विरुद्ध 38 टैस्टों में 2483 रन
  • पाकिस्तान के विरुद्ध 24 टैस्टों में 2089 रन
  • आस्ट्रेलिया के विरुद्ध 20 टैस्टों में 1550 रन

इन्होंने बल्लेबाज़ी से संबंधित कई कीर्तिमान स्थापित किए। गावस्कर ने विश्व क्रिकेट में 3 बार, एक वर्ष में एक हज़ार रन, सर्वाधिक 34 शतक, सर्वाधिक 9000 रन, सर्वाधिक शतकीय भागेदारियाँ और प्रथम शृंखला में सर्वाधिक रन बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज थे।

विवाद (Sunil Gavaskar Controversy)

1981 में मेलर्बोन में गावस्कर को आउट दिये जाने पर, उन्होंने अपने साथी खिलाड़ी को भी मैदान से खींच के बाहर कर दिया। इस बात पर मीडिया ने गावस्कर के लेकर तीखी आलोचना की, इसके बाद हरभजन सिंह के मंकीगेट के बयान पर भी आस्ट्रेलियन मीडिया ने गावस्कर की आलोचना की थी।

सुनील गावस्कर का रेकॉर्ड्स (Sunil Gavaskar Records List)

  • सुनील गावस्कर ने सर्वाधिक 34 शतक बनाने का रिकार्ड बनाया।
  • टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन बनाने वाले विश्व के प्रथम खिलाड़ी बने। बाद में एलन बार्डर ने उनका रिकार्ड तोड़ा।
  • 1975 का पहला वर्ल्डकप गावस्कर की नाबाद 36 रन की पारी कौंध जाती है, जो उन्होंने पूरे 60 ओवर में खेली थी। इसके लिए उन्होंने 174 गेंदों का सामना किया था। और सिर्फ एक चौका लगाया था।
  • एक वर्ष में 1984 रन बनाने का रिकार्ड भी सुनील गावस्कर के नाम है।
  • 17 अक्टूबर, 1978 से 1979 के बीच 2 दोहरा, 6 शतक, 9 अर्धशतक लगाकर रन बनाने का अभूतपूर्व रिकार्ड बनाया।

पुरस्कार और सम्मान (Sunil Gavaskar The Honors)

  • 1975 में 'अर्जून अवार्ड' दिया गया
  • 1980 में भारत सरकार द्वारा 'पद्म भूषण' अवार्ड दिया गया
  • 1980 में आईसीसी द्वारा विस्डेन अवार्ड दिया गया
Next Story
Share it