Top
Janskati Samachar

आनंदीबेन पटेल जीवन परिचय | Anandiben Patel Biography in Hindi

आनंदीबेन पटेल का जनम 22 नवंबर 1941 को मेहसाणा जिले के विजापूर तालुका के खरोद गाँव मे हुआ था | जहाँ उनके पिता जेठाभाई एक शिक्षक थे | वह अपनी हाई स्कूल की पढाई के लिए NM हाई स्कूल मे चली गई जिसमे केवल तीन छात्राएँ भी | एक छात्रा के रुप मे वह एक एथलीट थी |

आनंदीबेन पटेल जीवन परिचय | Anandiben Patel Biography in Hindi
X

आनंदीबेन पटेल जीवन परिचय | Anandiben Patel Biography in Hindi

नाम : आनंदीबेन पटेल

जनम तिथि : 21 नवंबर 1941

स्थान : विजापूर, गुजरात, भारत

पती : मफतलाल पटेल

व्यावसाय : राजनीतिज्ञ

प्रारंभिक जिवन :

आनंदीबेन पटेल का जनम 22 नवंबर 1941 को मेहसाणा जिले के विजापूर तालुका के खरोद गाँव मे हुआ था | जहाँ उनके पिता जेठाभाई एक शिक्षक थे | वह अपनी हाई स्कूल की पढाई के लिए NM हाई स्कूल मे चली गई जिसमे केवल तीन छात्राएँ भी | एक छात्रा के रुप मे वह एक एथलीट थी | और लगातार तीन वर्षो तर जिला स्तर की चैपियन बनी रही | उन्होंने 1960 मे B.SC की पढाई के लिए कॉलेज मे दाखिला लिया | उन्होंने अपनी पढाई मे एक छात्र के रुप मे उत्कृष्टा पदर्शन किया था | एथलेटिक्सा मे उत्कृष्टा उपलब्धि के लिए उसे मेहसाणा मे बीर बाला पुरस्कार से सम्मानित किया गया था |

आनंदीबेन पटेल 1960 में पिल्लाई मे एम जी पंचाल साइंस कॉलेज मे शामिल हुए | उन्होंने विसनगर मे विज्ञान में स्त्रातक की डिग्री पूरी की | उन्होंने 1962 मे मफतलाल से शादी की थी | वह महिलाओं के उत्थान के लिए महिला विकास गृह मे पहली नौकरी के रुप मे शामिल हुई थी | जहाँ उन्होंने 50 से अधिक विघवाओं का व्यावसायिक पाठयक्रम पढाया था | आनंदीबेन पटेल अपने पति मफतभाई पटेल के साथ 1965 मे अहमदाबाद मे, उसने अपने विस्तारित परिवार के सभी बच्चों को शिक्षीत करने की जिम्मेदारी ली, एक समय 10 से अधिक विस्तारित परिवार के सदस्या उसके घर मे रह रहे थे |

कार्य :

पटेल की राजनिति मे प्रेवश 1987 मे एक स्कूल पिकनिक के दौरान एक दुर्धटना के साथ शुरु हुआ था | जब वह एक स्कूल पिकनिक के दौरान डूब रही दो लडकियों को बचाने के लिए सरकार सरोबर जलाशय मे कूद गई | जिसके लिए उन्हें राष्ट्रपति बहादुरी पुरस्कार मिला था | पटेल की वीरता से प्रभावित होकर, भाजपा के शीर्ष केडर ने आनंदीबेन पटेल को पार्टी मे शामिल होने का सुझााव दिया था | पहले तो वह पार्टी मे शामिल होने से हिचकिया रही थी | लेकिन नरेंद्रा मोदी और केशाबाई पटेल व्दारा समझााने पर वह 1987 मे गुजरात प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष के रुप मे बी जे पी शामिल हो गई थी | शिक्षको के स्थानांतरण मे भ्रष्टाचार को कम करने के लिए श्रेय दिया जाता है | उन्होंने विकलांग बच्चो के लिए स्कूल की स्थापना की थी |

जनवरी 2018 मे , वह ओमप्रकाश कोहली की जगह मध्याप्रदेश की रा्जयापाल बनी थी | जो सितंबर 2016 से अतिरिक्ता प्रभार संभाले हुए थी | वह अगस्ता 2018 मे छत्तीसगढ के रा्जयापाल भी बनी थी | जो कि व्यापम राजपाल बलराम दास टंडन के निधन के कारण अतिरिक्त प्रभार संभाल रही है | 20 जूलै 2019 को उन्हें राम नाईक की जगह उत्तार प्रदेश का रा्जपाल नियुक्ता किया गया है |

जीवनी :

29 मई 1962 को आदंदीबेन और मफतलाल पटेल ने शादी की थी | मफतलाल 28 वर्षे के थे | चार साल तक मेहसाणा जिले मे रहने के बाद, दंपति अहमदाबाद चले गए | मफतलाल सरसपुर आर्ट एंड कॉमर्स कॉलेज मे मनोविज्ञान के प्रोफेसर थे | और आनंदीबेन ने गणित और विज्ञान पढाया था | और बाद मे अहमदाबादम के आश्रम रोड पर मोहीनीबा कन्या विश्वाविदयालय मे प्रिंसिपल बन गई थी | और उनका एक बेटा धर्म है अनार की शादी जयेश से हुई और उनकी एक बेटी संस्कारी है |

पूरस्कार और सम्मान :

1) इंडियन एक्सप्रेस ने उन्हें वर्षे 2014 के लिए भारत के शीर्ष 100 सबसे प्रभावशाली लोंगो मे सूचीबध्द किया है |

2) गुजरात मे सर्वश्रेष्ठा शिक्षक के लिए रा्जयपाल के पुरस्कार से सम्मानित 1988

3) सर्वश्रेष्ठा शिक्षक के लिए राष्ट्रापति पूरस्कार से सम्मानित 1989

4) पटेल मंडल, मुंबई व्दारा सरकार पटेल पूरस्कार से सम्मानित 1999

5) श्री तपोधन क्रहमण विकास मंडल 2000 व्दारा विघा गौरव पूरस्कार से सम्मानित |

6) पटेल समुदास व्दारा पाटीदार शिरोमणि पूरस्कार से सम्मानित 2005

7) महिला उत्थान अभियान के लिए धरती विकास मंडल व्दारा दिया गया विशेष सम्मान |

8) महेसाणा जिला स्कूल खेल आयोजन मे रैकिंग के लिए वीरबाला पूरस्कार |

9) मोहनाबा गर्ल्स स्कूल की दो लडकियों को नर्मदा मे नव ग्राम जलाशय डूबने से बचाने के लिए वीरता पूरस्कार |

10) चारूमती योध्दा पूरस्कार जयोतिषांग अहमदाबाद के विजेता

11) अंबुभाई पुरानी व्ययाम विदयालय पूरस्कार राजपीपला के विजेता |

Next Story
Share it