Top
Janskati Samachar

सुचेता दलाल (पत्रकार) का जीवन परिचय | Sucheta Dalal (Journalist) Biography in Hindi

सुचेता दलाल (पत्रकार) का जीवन परिचय Sucheta Dalal Biography, Age, Family, Husband, Books, Net Worth, Award, scam 1992 in Hindi

सुचेता दलाल (पत्रकार) का जीवन परिचय |  Sucheta Dalal (Journalist) Biography in Hindi
X

सुचेता दलाल (पत्रकार) का जीवन परिचय | Sucheta Dalal (Journalist) Biography in Hindi

सुचेता दलाल (पत्रकार) का जीवन परिचय Sucheta Dalal Biography, Age, Family, Husband, Books, Net Worth, Award, scam 1992 in Hindi

भारतीय संविधान में पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना जाता है. आजादी के समय से ही भारतीय पत्रकारों ने देश को दिशा देने में अहम भूमिका निभाई है. भारत मे अनेक प्रसिद्ध पत्रकार रहे है जिन्होंने निस्वार्थ देश की सेवा की है. महिला पत्रकार सुचेता दलाल का नाम ऐसे ही पत्रकारो की श्रेणी में सर्वप्रथम आता है. पत्रकार सुचेता ने 1992 में स्टॉक मार्केट के देश सबसे बड़े घोटाले का पर्दाफाश किया था. इनके अथक निर्भीक प्रयासों से ही 1992 का घोटाला उजागर हुआ और आरोपी हर्षद मेहता को जेल हुई. इसके कारण इन्हें बहुत प्रसिद्धि मिली एवं इन्हें कई पुरुस्कारों से सम्मानित किया गया.

  • नाम (Name) सुचेता दलाल
  • जन्म (Date of Birth) 1962
  • आयु 58 वर्ष (2020 तक)
  • जन्म स्थान (Birth Place) मुंबई, महाराष्ट्र
  • पति का नाम (Husband Name) देवाशीष बासु
  • पेशा (Occupation ) बिजनेस पत्रकार
  • अवार्ड (Award) पद्म श्री

प्रारंभिक जीवन एवं परिवार | Sucheta Dalal Family

वरिष्ठ पत्रकार सुचेता दलाल का जन्म 1962 में मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ. इनकी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई में सम्पन्न हुई. उन्होंने स्टेटैस्टिक्स में अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर्नाटक कॉलेज से पूरी की. इसके बाद उन्होंने बॉम्बे यूनिवर्सिटी से LLB और LLM की डिग्री भी हासिल की. उन्हें विद्यार्थी जीवन से ही बिजनेस विषय प्रिय रहा है और पत्रकार बनना उनका सपना. इसी को चरितार्थ करते हुए वे आगे चलकर बिजनेस पत्रकार(जर्नलिस्ट) बनी. सुचेता दलाल का विवाह देवाशीष बासु से हुआ.

सुचेता दलाल का पत्रकारिता सफर | Sucheta Dalal As a Journalist

सुचेता दलाल ने अपना करियर 1984 में एक निवेश पत्रिका- फॉर्च्यून इंडिया के साथ शुरू किया. 1990 के दशक की शुरुआत में उन्होंने मुंबई में टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ व्यवसाय और अर्थशास्त्र विंग के लिए एक पत्रकार के रूप में काम करना शुरू किया. इसके बाद वे टाइम्स ऑफ इंडिया की वित्तीय संपादक बन गईं और 1998 तक वे टाइम्स ऑफ इंडिया का हिस्सा रही.

सुचेता दलाल इंडियन एक्सप्रेस समूह के साथ परामर्श संपादक रही और 2008 तक इंडियन एक्सप्रेस और फाइनेंशियल एक्सप्रेस के लिए कॉलम लिखे. इसके साथ ही 2006 में उनके पति देवाशीष बासु ने निवेश करके मनीलाइफ(Moneylife) नाम की पाक्षिक पत्रिका निकली जिसके लिए सुचेता ने लिखना शुरू किया. वर्तमान में वे मनीलाइफ पत्रिका की प्रबंधन संपादक है. 2010 में भारत में खराब वित्तीय साक्षरता का जवाब देते हुए सुचेता दलाल ने अपने पति के साथ मनीलाइफ फाउंडेशन की स्थापना की. इसके बाद वह छह साल के लिए कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के निवेशक शिक्षा और संरक्षण कोष की सदस्य रही हैं.

सुचेता दलाल द्वारा 1992 स्कैम का पर्दाफाश | Sucheta Dalal 1992 Scam

टाइम्स ऑफ इंडिया में रहकर इन्होंने देश के सबसे बड़े घोटालेबाज हर्षद मेहता के स्टॉक मार्केट के बिजनेस की छानबीन करते हुए हर्षद के घोटालों का पर्दाफाश किया. सुचेता ने हर्षद के घोटालों के बारे में बताया कि वह कैसे बैंको में अपनी जान पहचान का फायदा उठाकर बैंको से 15 दिन के लिए लोन लेता और किस प्रकार उसने बैंको और अन्य लोगो के 4000 करोड़ रुपए का घोटाला किया. 1992 में सुचेता की पत्रकारिता और तहकीकात के कारण ही 1992 के स्टॉक मार्केट के घोटाले (स्कैम) उजागर हुआ था तथा इसके बाद पुलिस की जाँच हुई जिसमें हर्षद मेहता को जेल हुई. इसके कारण उन्हें बहुत प्रसिद्धि मिली. वे यही नही रुकी अपने करियर में सुचेता ने और भी कई घोटालों की पोल खोली थी जैसे सी.आर भंसाली स्कैम, एनरॉन स्कैम, IDBI स्कैम, केतन पारेख स्कैम.

सुचेता दलाल द्वारा लिखी पुस्तकें | Sucheta Dalal Books

  • द स्कैम: हू वोन, लॉस्ट, हू गॉट अवे (1993)
  • एडी श्रॉफ: टाइटन ऑफ फाइनेंस एंड फ्री एंटरप्राइज (2000)

पुरुस्कार एवं सम्मान | Sucheta Dalal Award

  • पद्म श्री (2006) – पत्रकारिता के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए सुचेता दलाल को 2006 में तत्कालीन राष्ट्रपति ए. पी. जे. अब्दुल कलाम द्वारा पद्म श्री से सम्मानित किया गया.
  • चमेली देवी पुरस्कार- सुचेता दलाल को पत्रकारिता में उत्कृष्टता के लिए मीडिया फाउंडेशन द्वारा स्थापित चमेली देवी पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
  • 1992 में हर्षद मेहता प्रकाशन पर काम और संबंधित लेखन के लिए फेमिना की वुमन ऑफ सब्सटेंस डिग्री से सम्मानित किया गया .

वर्तमान में सुचेता दलाल:-

सुचेता दलाल वर्तमान में अहमदाबाद के उपभोक्ता शिक्षा और अनुसंधान केंद्र की ट्रस्टी हैं यह ट्रस्ट समूह भारत में सबसे बड़े उपभोक्ता और निवेशक वकालत समूहों में से एक है. इसके अलावा वह उपभोक्ता सेवाओं से जुड़ते हुए बैंक ऑफ बड़ौदा की स्थायी समिति की सदस्य है तथा इसके साथ ही पत्रकार सुचेता दलाल एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (ASCI) की उपभोक्ता शिकायत परिषद (CCC) की सदस्य भी हैं.

Next Story
Share it