Janskati Samachar

रविशंकर पर भड़के ओवैसी, बोले- बीजेपी कौन होती है, हमें सम्मान देने वाली, संविधान ने दिया है हक और सम्मान

रविशंकर पर भड़के ओवैसी, बोले- बीजेपी कौन होती है, हमें सम्मान देने वाली, संविधान ने दिया है हक और सम्मान
X

आल इंडिया मजलिसे इत्तिहादुल मुस्लिमीन (ऐमिम) नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि किसी भी धार्मिक समुदाय को अधिकार देने वाली बीजेपी कौन होती है? ये अधिकार मुसलमानों को संविधान ने दिया है। ओवैसी का ये बयान टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि बीजेपी जानती है कि मुस्लिम समुदाय के लोग उनकी पार्टी को वोट नहीं देते हैं फिर भी बीजेपी मुसलमानों का पूरा सम्मान करती है और ना ही कभी धर्म के आधार पर मुस्लिम समुदाय के लोगों से भेदभाव करती है।


ताज़ा अपडेट्स के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें


ओवैसी ने कहा कि, ' रविशंकर प्रसाद का कहना कि हमनें उन्हें सम्मान दिया अधिकार दिया, आखिर ये हम कौन हैं, मुसलमानों को अधिकार संविधान ने दिया है, ये अधिकार संविधान प्रदत हैं और संविधान इन अधिकारों को मुहैया कराने की गारंटी लेता है।' केन्द्रीय टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार (21 अप्रैल) को भारत की विविधता से जुड़े एक सवाल में मुस्लिमों को बिना किसी भेदभाव के सम्मान और अधिकार देने की बात कही थी।



ताज़ा अपडेट्स के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें


उन्होंने कहा था, 'हमें मुसलमानों का वोट नहीं मिलता है मैं बड़ी स्पष्टता से इसे स्वीकार करता हूं लेकिन क्या हमने उन्हें उचित सम्मान दिया है या नहीं।' कांग्रेस ने भी बीजेपी के इस बयान की आलोचना की है और कहा है कि अगर आपको किसी पार्टी के वोट नहीं मिलते है तो इसके कारणों पर आत्ममंथन करना चाहिए।


ताज़ा अपडेट्स के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें


पार्टी नेता सलमान खुर्शीद ने कहा, 'हमें देखना चाहिए कि हमें कौन वोट नहीं कर रहा है, और इसके कारणों की तलाश करनी चाहिए और देखना चाहिए क्या इन कारणों को दूर किया जा सकता है, मुझे नहीं पता ये सम्मान की बात कहां से आयी है।'रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि बीजेपी कभी भी मुसलमानों के साथ भेदभाव नहीं करती है। उन्होंने कहा कि अगर इस मुद्दे पर थोड़ी बहुत चीजें आती है भी है तो प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री इस मसले का समाधान करते हैं।


ताज़ा अपडेट्स के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें


रविशंकर प्रसाद ने शनिवार (22 अप्रैल) को इस मुद्दे पर फिर ट्वीट किया और अपनी राय रखी, उन्होंने कहा, 'हरेक भारतीय, चाहे वह हिन्दू, मुसलमान या क्रिश्चयन या फिर किसी वंचित तबके का व्यक्ति हो, सभी के लिए विकास हमारी मुख्य चिंता है।' अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, ' हम भारतीय नागरिकों के विकास को वोटबैंक के पैमाने पर नहीं मापते हैं।'

Next Story
Share it