Top
Jan Shakti

बुराड़ी में 11 लोगों की मौत का मामला: आधे भरे रजिस्टर में छिपे हैं कई राज, 4 पेज में बनी मौत की प्लानिंग

बुराड़ी में 11 लोगों की मौत का मामला: आधे भरे रजिस्टर में छिपे हैं कई राज, 4 पेज में बनी मौत की प्लानिंग
X

नई दिल्ली: उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्यों के रहस्यमयी परिस्थितियों में मृत पाए जाने के मामले में बरामद किए गए हाथ से लिखे नोटों में कहा गया है कि ' मानव शरीर अस्थायी है और अपनी आंखें और मुंह बंद करके डर से उबरा जा सकता है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह नोट संकेत देते हैं कि इन मौतों में कोई धार्मिक या आध्यात्मिक पहलू है. घर से एक रजिस्टर बरामद हुआ है. यह आधा भर चुका है. यह रजिस्टर दिसंबर से लिखना शुरू किया गया था. 26 जून को इस रजिस्टर में 4 पेज लिखे गए. इसमे लिखा है कि मोक्ष के लिए खुदकुशी करते समय आंख, मुंह और हाथ बंधे होने चाहिए. 30 जून को भगवान से मिलने जाने की बात भी कही गई है.


रजिस्टर में लिखा है कि फोन परेशानी की बड़ी वजह है. इसे दूर रखना चाहिए. घर से सभी सदस्यों के 8 मोबाइल और एक टैबलेट एक दराज में मिले हैं. रिजस्टर के पन्नों पर एक ही व्यक्ति की हैंडराइटिंग है. परिवार से सभी सदस्य हर काम एक साथ करते थे. मौन व्रत भी साथ रखते थे. रजिस्टर में लिखा है कि सीधे भगवान से मिलना है तो मोक्ष प्राप्ति के समय घर के दरवाजे खुले रखें. पड़ोसियों को दरवाजे खुले ही मिले थे. घर का सामना बिखरा नहीं था. महिलाओं ने जो गहने पहने थे वो भी उनके शरीर पर वैसे ही हैं. तो क्या किसी एक सदस्य ने सबको मारकर खुदकुशी की? आशंका है कि किसी एक सदस्य ने परिवार के सभी सदस्यों की हत्या की हो और बाद में खुद आत्महत्या कर ली हो. आंख, मुंह कान बंद करना इस आशंका को जन्म देता है. हालांकि पुलिस मान रही है कि अकेले व्यक्ति यह काम नहीं कर सकता.

सगाई हो गई थी प्रियंका क्यों करेगी खुदकुशी

रहस्यमयी परिस्थितियों में मृत मिले एक ही परिवार के 11 सदस्यों में से एक 33 वर्षीय प्रियंका की हाल में मंगनी हुई थी और उसकी नवंबर में शादी होने वाली थी. शव खोजने वाले शुरुआती लोगों में शामिल एक व्यक्ति के बेटे अमरिक सिंह ने कहा कि परिवार प्रियंका की शादी की तैयारी कर रहा था और वे बहुत खुश नजर आ रहे थे. उन्होंने कहा कि इस पर भरोसा करना मुश्किल है कि ऐसा कुछ हो गया. हम 17 जून को प्रियंका की सगाई में शामिल हुये थे. शादी संभवत नवंबर में होनी थी. घर में मरंमत का काम हो रहा था. प्रियंका के रिश्ते के भाई केतन नागपाल ने बताया कि प्रियंका शनिवार रात अपनी शादी की तैयारियों के बारे में चर्चा कर रही थी. प्रियंका नोएडा की एक आईटी फर्म में नौकरी करती थी.


बच्चों के दोस्त का दावा कुछ और

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में रविवार को मृत मिले एक ही परिवार के 11 लोगों में शामिल दो नाबालिग लड़कों के एक दोस्त का कहना है कि उसने शनिवार रात उन दोनों को क्रिकेट खेलते हुए देखा था. दोनों लड़कों के मित्र जतिन ने कहा कि 15-15 साल के लड़के के नौवीं कक्षा के छात्र थे.' मैंने उन्हें कल रात खेलते हुए देखा था. भवनेश अंकल उन्हें देखकर खुश हो रहे थे. यह विश्वास करना मुश्किल है कि वे अब हमारे बीच नहीं हैं.


रिश्तेदार को हत्या का शक

वहीं एक रिश्तेदार ने इस घटना में साजिश की आशंका जताई और कहा कि वे शिक्षित लोग थे, अंधविश्वासी नहीं. इस परिवार के एक रिश्तेदार केतन नागपाल ने आरोप लगाया कि उन्हें मारा गया है. उन्होंने पुलिस की इस कहानी को खारिज किया कि हो सकता है यह एकसाथ खुदकुशी का मामला हो. उन्होंने कहा कि यह एक समृद्ध परिवार था. रिश्तेदारों ने दावा किया कि इन मौतों में कोई धार्मिक कोण नहीं है.

Next Story
Share it