Top
Janskati Samachar

शरद पवार का भागवत पर हमला: कहा, "सावरकर मानते थे कि गाय का मांस खाने से कोई दोषी नहीं हो सकता"

शरद पवार का भागवत पर हमला: कहा, सावरकर मानते थे कि गाय का मांस खाने से कोई दोषी नहीं हो सकता
X

लखनऊ: शरद पवार ने गोहत्या पर दिए गए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान को लेकर उन पर निशाना साधा है। इसके लिए उन्होंने हिंदू महासभा के नेता वीर सावरकर का जिक्र किया।

पवार ने कहा कि सावरकर मानते थे कि गाय की जरूरत न रह जाए तो उसका मांस खाने से कोई दोषी नहीं हो सकता। बताते चलें गत dinon कि भागवत ने देशभर में गोहत्या पर रोक लगाने की मांग की थी।

यह बातें पवार ने अपनी हिंदी ऑटोबायोग्राफी 'अपनी शर्तों पर' के इनॉगरेशन के मौके पर कही, उन्होंने कहा " सावरकर ने कहा था कि गाय उपयोगी पशु है। लेकिन जब इसकी उपयोगिता समाप्त हो जाए तो वह किसानों पर बोझ नहीं बननी चाहिए। इसलिए अगर किसी ने गो हत्या करके उसका मांस खाया तो मैं उसे दोषी नहीं मानता।

शरद पवार ने कहा है कि पूरे देश में गौ हत्या पर प्रतिबंध लगाना सही नहीं है। शरद पवार ने वीर सावरकर का जिक्र करते हुए कहा कि वीर सावरकर भी गौ हत्या के पक्ष में थे। उन्होंने कहा था कि अगर गायों की उपयोगिता नहीं है तो उसका मांस खाने से कोई दोषी नहीं हो सकता है।उन्होंने कहा कि गो प्रेम पर उन्हें आपत्ति नहीं है लेकिन मैं उस विचारधारा के लोगों से जानना चाहता हूं जो कहते हैं देश में गो हत्या पर कानून होना चाहिए।

वह वीर सावरकर की बात तो करते हैं मगर उनकी विचारों को नहीं मानते। सावरकर गो प्रेम की बात करते थे मगर वह यह भी कहते थे कि जब गो का उपयोग खत्म हो जाए और वह किसानों पर बोझ बन जाए तो उसको मारना गलत नहीं है।

गौरतलब है कि इससे पहले संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पूरे देश में गौ हत्या पर बैन लगाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि संघ पूरे देश में गौ हत्या को रोकने वाला कानून चाहता है।

Next Story
Share it