Janskati Samachar

UP : लड़की पर फायरिंग करने वाले बीजेपी नेता संजय शुक्ला 50 दिन से फरार, पुलिस आज तक दे रही सिर्फ दबिश

UP : लड़की पर फायरिंग करने वाले बीजेपी नेता संजय शुक्ला 50 दिन से फरार, पुलिस आज तक दे रही सिर्फ दबिश
X

कानपूर : मामूली विवाद में लड़की पर फायरिंग करने वाला कथित बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) नेता बीते 50 दिनों से फरार है। पुलिस बीजेपी नेता संजय शुक्ला को अरेस्ट करने के लिए दबिश दे रही है, लेकिन 50 दिन बीत जाने के बाद भी उसे अरेस्ट नहीं कर पाई है। पुलिस अब कथित बीजेपी नेता पर 82 और 83 की कार्रवाई कर शिकंजा कसने की तैयारी में है। इसके साथ ही संजय शुक्ला के लाइसेंसी रिवाल्वर का लाइसेंस निरस्त कराने के लिए डीएम को पत्र लिखा है। संजय शुक्ला सफेदपोश नेताओं के संरक्षण में पूरे गांव में दबंगई करता था।

जानकारी के मुताबिक, नर्वल थाना क्षेत्र स्थित दलपतपुर गांव में रहने वाले शिवदास उत्तम की घर के बाहर परचून की दुकान है। बीते 7 अगस्त 2020 को दुकान के बाहर शिवदास उत्तम का गांव में ही रहने वाले कथित बीजेपी नेता संजय शुक्ला से झगड़ा हो गया था। संजय शुक्ला ने शिवदास को देख लेने की धमकी दी थी। 09 अगस्त 2020 को देररात कथित बीजेपी नेता नशे की हालत में अपने दो साथियों कमलकांत और प्रमोद शुक्ला के साथ मिलकर शिवदास पर हमला कर दिया था, और शिवदास की परचून की दुकान में घुसकर तोड़फोड़ की थी।

पिता और भाइयों को बचाने पहुंची थी लड़की

कथित बीजेपी नेता शिवदास और उनके दोनों बेटों को अपने साथियों के मिलकर पीट रहा था। सरिता (20) पिता और भाईयों को बचाने पहुंची तो संजय शुक्ला ने सरिता को भी जमकर पीटा, और अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से उस पर फायरिंग कर दी थी। सरिता लहुलुहान हालत में वहीं गिर पड़ी थी। पीड़ित परिवार ने पुलिस को फोन कर मदद की गुहार लगाई थी। वहीं परिजनों ने पीड़िता को जिला अस्पताल उर्सला में भर्ती कराया था। घटनास्थल पर जब पुलिस पहुंची तो थी तो, उसे ग्रामीणों के गुस्से का सामना भी करना पड़ा था।

खुद को बीजेपी नेता बताकर गांठता है रौब

दलपतपुर गांव में रहने वाला संजय शुक्ला कमर में लाइसेंसी रिवॉल्वर लगाकर चलता था, और खुद को बीजेपी का सक्रिय सदस्य बताकर लोगों पर रौब गांठता है। संजय शुक्ला से पूरा गांव परेशान था, गांव में सड़क, नाली और खडंजा को लेकर उसका आए दिन किसी न किसी से विवाद होता रहता था। इसके साथ ही खुद को बीजेपी नेता बताकर सरकारी योजनाओं में दखलनदांजी करता था।

दलपतपुर गांव बीजेपी नेता की दबंगई से परेशान था

दलपतपुर गांव कुर्मी बाहुल गांव है, कथित बीजेपी नेता की दबंगई से पूरा गांव परेशान था। शिवदास उत्तम के परिवार पर जानलेवा हमला करने के बाद पूरा गांव एकजुट हो गया है, और संजय शुक्ला के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस घटना के बाद आज भी तनाव की स्थिति बनी हुई है।

खुद को पूर्व सांसद का बताता था रिश्तेदार

अकबरपुर लोकसभा सीट से बसपा से सांसद रहे अनिल शुक्ल वारिसी को बीजेपी नेता संजय शुक्ला अपना रिश्तेदार बताता था। अनिल शुक्ल वारिसी फिलहाल अब बीजेपी में है, और उनकी पत्नी रनियां विधानसभा से बीजेपी विधायक है।

तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

नर्वल इंस्पेक्टर बलराम मिश्रा ने बताया कि दलपतपुर गांव में रहने वाले संजय शुक्ला, कमलकांत और प्रमोद शुक्ला के खिलाफ एफआईआर दर्ज है। पुलिस दबिश देने के लिए जाती है, तो घर पर ताला लगा मिलता है। तीनों आरोपी फरार है, इनके खिलाफ 82 और 83 की कार्रवाई करने की तैयारी बनाई जा रही है। इंस्पेक्टर बलराम मिश्रा ने बताया कि संजय शुक्ला के असलहा का लाइसेंस निरस्त कराने के लिए डीएम को पत्र लिखा गया है जल्द ही संजय शुक्ला का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा।

Next Story
Share it