Janskati Samachar

UP में बिछ गई उपचुनाव की बिसात, नामांकन आज से, कोरोना के बीच ये है तैयारी

प्रदेश की जिन विधानसभा सीटों में उपचुनाव हो रहा है, उनमें अमरोहा जिले की नौगांवा सादात, बुलंदशहर ,फिरोजाबाद जिले की टूंडला, उन्नाव जिले की बांगरमऊ, कानपुर की घाटमपुर,देवरिया और जौनपुर जिले की मल्हनी सीट शामिल है।

UP में बिछ गई उपचुनाव की बिसात, नामांकन आज से, कोरोना के बीच ये है तैयारी
X

लखनऊ। यूपी की 7 रिक्त पड़ी विधानसभा सीटों के लिए चुनाव होना है । इसके लिए नामांकन प्रक्रिया आज से शुरू हो रही है जो 16 अक्टूबर तक चलेगी। इस दौरान निर्वाचन आयोग द्वारा कोविड के मद्देनजर जारी किए गए दिशा निर्देशों का पूरा पालन किया जाएगा। नामांकन के दौरान पीठासीन अधिकारी के कच्छ में केवल दो लोगों को ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।

उपचुनाव के लिए नामांकन आज से

गौरतलब है कि प्रदेश की जिन विधानसभा सीटों में उपचुनाव हो रहा है, उनमें अमरोहा जिले की नौगांवा सादात, बुलंदशहर ,फिरोजाबाद जिले की टूंडला, उन्नाव जिले की बांगरमऊ, कानपुर की घाटमपुर,देवरिया और जौनपुर जिले की मल्हनी सीट शामिल है। इस उपचुनाव के लिए मतदान का काम 3 नवंबर को होगा जबकि 10 नवंबर को उपचुनाव के परिणाम आएंगे।

16 अक्टूबर तक चलेगी नामांकन प्रक्रिया

जानकारी के अनुसार नामांकन पत्र ऑनलाइन दाखिले के बाद उसका प्रिंट का प्रारूप पीठासीन अधिकारी के समक्ष दाखिल किया जा सकता है। नामांकन के साथ ही शपथ पत्र का प्रारूप भी मुख्य निर्वाचन अधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है। जिसे ऑनलाइन जमा किया जाता है कोरोना के बीच हो रहे इस उपचुनाव में स्टार प्रचारकों की संख्या में भी बदलाव किया गया है।

कोविड के मद्देनजर ऑनलाइन नामांकन

अब मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजस्थानी दलों के स्टार प्रचारकों के लिए अधिकतम सीमा 40 के बजाय केवल 30 निर्धारित की गई है। जबकि गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के लिए स्टार प्रचारकों की अधिकतम सीमा के स्थान पर है स्टार प्रचारकों की सूची सौंपी जाने की अवधि आज से 7 दिनों के स्थान पर बढ़ाकर 10 दिन की जा रही है। नामांकन को लेकर पुलिस कड़ी सुरक्षा प्रबंध किए हैं ।

स्टार प्रचारकों की सीमा तय

वहीं दूसरी तरफ भाजपा में टिकट मंथन का और जोरों पर है पार्टी की तरफ से इन प्रत्याशियों के नाम दिल्ली भेजे जा चुके हैं और जल्द ही केंद फैसला लेकर टिकटों की घोषणा कर देगा। बताया जा रहा है कि भाजपा ने अधिकतर विधायक को के परिजनों कोई टिकट देने का फैसला लिया है।

Next Story
Share it