Top
Janskati Samachar

भूपेंद्र सिंह मान सुप्रीम कोर्ट की बनाई कमेटी से हुए अलग, किसानों के लिए कही दिल को छू लेने वाली बात

भूपिंदर सिंह मान ने कहा, मैं कमेटी से खुद को अलग कर रहा हूं ताकि पंजाब और देश के किसानों के हितों के साथ समझौता न हो सके. मैं हमेशा अपने किसानों और पंजाब के साथ खड़ा रहूंगा." भूपिंदर मान के खुद को अलग करने के बाद कमेटी में अब तीन सदस्‍य बचे हैं. राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- मेरी बात गांठ बांध लो नए कृषि कानून वापस लेने होंगे.

Bhupendra Singh Mann is separated from the committee formed by the Supreme Court
X

नई दिल्ली: कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ जारी किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भूपिंदर सिंह मान (Bhupinder Singh Mann) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की चार सदस्यीय कमेटी से खुद को अलग कर लिया है. उन्‍होंने अपने एक पत्र में कहा है कि वे 'पंजाब और किसानों के हितों के साथ समझौता न करने के लिए किसी भी पद का त्‍याग करने को तैयार हैं.' मान ने लिखा है, "एक किसान और एक यूनियन नेता के तौर पर, किसान यूनियनों और जनता के बीच फैली शंकाओं को ध्‍यान में रखते हुए, मैं किसी भी पद का त्‍याग करने को तैयार हूं."

भूपिंदर सिंह मान ने कहा, मैं कमेटी से खुद को अलग कर रहा हूं ताकि पंजाब और देश के किसानों के हितों के साथ समझौता न हो सके. मैं हमेशा अपने किसानों और पंजाब के साथ खड़ा रहूंगा." भूपिंदर मान के खुद को अलग करने के बाद कमेटी में अब तीन सदस्‍य बचे हैं. राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- मेरी बात गांठ बांध लो नए कृषि कानून वापस लेने होंगे.

भूपिंदर सिंह मान ने खुद को SC की कमेटी से अलग किया:

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने किसान और सरकार के बीच गतिरोध को खत्म करने और समाधान निकालने के लिए चार सदस्यीय कमेटी बनाई है. इस कमेटी में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भूपिंदर सिंह मान को भी शामिल किया गया था. इस कमिटी में अब अंतर्राष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान के डॉ प्रमोद कुमार जोशी, कृषि अर्थशास्त्री अशोक गुलाटी और शेतकारी संगठन के अध्यक्ष अनिल घनवत शामिल हैं.

Next Story
Share it