Top
Janskati Samachar

सौरव गांगुली को नहीं मना पाई बीजेपी, बोले- नहीं करूंगा राजनीति ज्वॉइन

पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने दलगत राजनीति की घमासान पिच पर नई पारी शुरू करने से इंकार कर दिया है। सात मार्च को कोलकाता में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में हिस्सा लेने की अटकलों के बीच गांगुली ने भाजपा आलाकमान को सूचित किया कि उनकी वर्तमान स्वास्थ्य स्थिति इसकी इजाजत नहीं देती।

BJP could not convince Sourav Ganguly, said - I will not join politics
X

पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने दलगत राजनीति की घमासान पिच पर नई पारी शुरू करने से इंकार कर दिया है। सात मार्च को कोलकाता में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में हिस्सा लेने की अटकलों के बीच गांगुली ने भाजपा आलाकमान को सूचित किया कि उनकी वर्तमान स्वास्थ्य स्थिति इसकी इजाजत नहीं देती।

गांगुली के करीबी सूत्रों ने कहा, "हालांकि वह ठीक हो चुके हैं, लेकिन व्यापक प्रचार के लिए वे किसी भी हालत में नहीं हैं। उनका परिवार पूरी तरह से जोखिम लेने के खिलाफ है।"बता दें कि बीजेपी की ओर से भी मजबूत चेहरे की तलाश है। बीजेपी इसके लिए सौरव गांगुली से उम्मीद कर रही थी। भाजपा के शीर्ष नेता गांगुली को 'बंगाल का चेहरा' बता रहे थे।।

राज्यपाल जगदीप धनखड़ के साथ उनकी मुलाकात और गृह मंत्री अमित शाह के साथ कई बैठकों के बाद उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थी। अमित शाह के बेटे जय शाह बीसीसीआई के सचिव हैं। शासित राज्यों के बोर्डों से मजबूत समर्थन मिला तो गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष बन गए और जय शाह के साथ उनका अच्छा रिश्ता रहा। बीसीसीआई के अध्यक्ष के लिए समर्थन करना गांगुली को लुभाने की योजना का हिस्सा था।

सौरव गांगुली (48) को 31 जनवरी को अस्पताल से छुट्टी मिली थी। इससे पहले ह्रदय तक जाने वाली धमनियों में अवरोध को दूर करने के लिए उनकी एक और एंजीयोप्लास्टी की गई थी। सर्जरी के दौरान उन्हें दो और स्टेंट लगाए गए थे। जनवरी के शुरू में गांगुली को दिल का हल्का दौरा पड़ा था और हृदय से संबंधित ट्रिपल वेसेल डिजीज का पता चला था. उस समय एक धमनी में स्टेंट लगाया गया था।

पश्चिम बंगाल की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे। पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा।

Next Story
Share it