Janskati Samachar

किसान आंदोलन: बेनतीजा रही मोदी सरकार से बातचीत, जारी रहेगा आंदोलन, जानिए अब आगे क्या होगा?

Farmers meeting with Union Agriculture Minister: नए कृषि कानूनों को वापस लेने को लेकर आन्दोलन कर रहे किसानों की बैठक कृषि मंत्री के साथ बेनतीजा रही. किसान नेताओं ने बैठक के बाद कहा कि जब तक कानून वापस नहीं लिया जाता तब तक वे वापस नहीं जाएंगे और प्रदर्शन करते रहेंगे.

Farmers meeting with Union Agriculture Minister
X

Farmers meeting with Union Agriculture Minister: नए कृषि कानूनों को वापस लेने को लेकर आन्दोलन कर रहे किसानों की बैठक कृषि मंत्री के साथ बेनतीजा रही. किसान नेताओं ने बैठक के बाद कहा कि जब तक कानून वापस नहीं लिया जाता तब तक वे वापस नहीं जाएंगे और प्रदर्शन करते रहेंगे. 3 दिसंबर को एक बार फिर बैठक होगी. दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री से मुलाकात के बाद किसान प्रतिनिधिमंडल के सदस्य चंदा सिंह ने कहा कि हमारा आंदोलन जारी रहेगा. सरकार से कुछ लेकर जाएंगे. उन्होंने कहा, "कृषि कानूनों के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा और हम निश्चित रूप से सरकार से कुछ तो वापस लेकर जाएंगे, चाहे गोलियां या शांतिपूर्ण समाधान. हम उनके साथ और चर्चा के लिए फिर वापस आएंगे."

ऑल इंडिया किसान फेडरेशन के अध्यक्ष प्रेम सिंह ने कहा, "आज की बैठक अच्छी रही. सरकार अपने स्टैंड से थोड़ा पीछे हटी है. 3 दिसंबर को अगली बैठक है, उसमें हम सरकार को यकीन दिला देंगे कि इन कानूनों में कुछ भी किसानों के पक्ष में नहीं है. हम इन क़ानूनों को रद्द करा के जाएंगे." वहीं केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बैठक के बाद कहा, "आज किसान यूनियन के नेता आए थे, भारत सरकार ने तीसरे चरण की वार्ता आज पूरी की है. हम सब ने निर्णय लिया है कि परसों वार्ता का चौथा चरण शुरू होगा." उन्होंने कहा, "परसों तक ये लोग भी अपने मुद्दे लेकर आएंगे और सभी बिन्दुओं पर चर्चा की जाएगी. हम चाहते थे कि छोटा ग्रुप बने, लेकिन सभी किसान यूनियनों का कहना था कि सभी मिलकर बात करेंगे. सरकार को सभी से बात करने में भी परेशानी नहीं है."

कृषि मंत्री ने किसानों ने आन्दोलन स्थगित करने का अनुरोध भी किया. उन्होंने कहा, "हम किसान भाइयों से आग्रह करते हैं कि आंदोलन स्थगित करें और वार्ता के लिए आएं परन्तु ये फैसला करना किसान यूनियन और किसानों पर निर्भर है."

Next Story
Share it