Janskati Samachar

डिप्टी CM की कुर्सी छिनने से नाराज हुए सुशील मोदी! अमित शाह से मिलकर उठाया ये कदम

नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पटना पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के स्वागत के लिए सुशील मोदी बीजेपी दफ्तर नहीं पहुंचे।

sushil Modi Angry At The Deputy Cm Snatching The Chair Bjp Office Did Not Reach To Welcome Amit Shah
X

पटना : बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी नीतीश कुमार की नई कैबिनेट में जगह नहीं पाने से नाराज हैं? यह सवाल बिहार की राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बना हुआ है। नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पटना पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के स्वागत के लिए सुशील मोदी बीजेपी दफ्तर नहीं पहुंचे। हालांकि वह एयरपोर्ट पर शाह की अगवानी करने पहुंचे थे। चर्चा है कि सुशील मोदी ने इस कदम के जरिए केंद्रीय नेतृत्व के समक्ष अपनी नाराजगी दिखाई है। सुशील मोदी नई सरकार के गठन की पूरी प्रक्रिया में रविवार को कहीं नहीं दिखे। हालांकि पार्टी के नेताओं का कहना है कि नाराजगी की कोई बात नहीं है।

सुशील मोदी ने 13 साल नीतीश के साथ किया काम

नीतीश कुमार 7वीं बार बिहार के सीएम बनने जा रहे हैं। सुशील कुमार मोदी करीब 13 साल डेप्युटी सीएम के तौर पर नीतीश कुमार के साथ सरकार चलाते रहे हैं। बिहार में हाल में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में राजग को 125 सीटें मिलीं, जिनमें से नीतीश कुमार की जेडीयू को 43 सीटें मिलीं और बीजेपी को जेडीयू से 31 सीटें अधिक (74 सीट) हासिल हुईं। बिहार की नयी सरकार में उत्तर प्रदेश की तर्ज पर बीजेपी के दो उपमुख्यमंत्री बनने की संभावना है।

तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी हैं सुशील मोदी की कुर्सी के दावेदार

ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि कटिहार से चौथी बार विधायक निर्वाचित हुए तारकिशोर प्रसाद और बेतिया से विधायक रेणु देवी उपमुख्यमंत्री पद के मुख्य दावेदार हैं। तारकिशोर प्रसाद को बीजेपी विधानमंडल दल का नेता और रेणु देवी को उपनेता चुना गया है । बीजेपी सूत्रों ने बताया कि पार्टी के संगठन मंत्री बी एल संतोष शपथग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे।

राजभवन के बयान के अनुसार, राज्यपाल फागू चौहान शाम साढ़े चार बजे कुमार को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के वरिष्ठ नेता शाह मौजूद रहेंगे। शाह ने चुनाव कार्यक्रम घोषित होने से पहले ही पार्टी की पहली डिजिटल रैली को संबोधित कर चुनाव प्रचार की शुरूआत की थी, लेकिन वह चुनाव प्रचार में मौजूद नहीं रहे थे। नीतीश कुमार ने 2010 और 2015 में चुनावी जीत के बाद गांधी मैदान में बड़ी संख्या में आम लोगों एवं गणमान्य लोगों की मौजूदगी के बीच शपथ ली थी, लेकिन इस बार कोविड-19 महामारी के कारण यह संभव नहीं हो पाएगा। सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार के अलावा एनडीए के चार घटक दलों बीजेपी, जेडीयू, हम पार्टी और वीआईपी से 15 नेताओं को कैबिनेट में स्थान दिया जा सकता है और बाद में इसका विस्तार किया जा सकता है।

जेडीयू के इन नेताओं को मिलेगी नीतीश मंत्रिमंडल में जगह

  1. विजय चौधरी
  2. विजेंद्र यादव
  3. अशोक चौधरी
  4. मेवालाल चौधरी
  5. शीला मंडल

नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं बीजेपी के ये नेता

  1. तारकिशोर प्रसाद- डिप्टी सीएम
  2. रेणु देवी- डिप्टी सीएम
  3. मंगल पांडे
  4. रामप्रीत पासवान
  5. नंद किशोर यादव- स्पीकर

नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले 'हम' नेता

  1. संतोष मांझी


नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले 'VIP' नेता

  1. मुकेश सहनी


मुकेश सहनी ने जाहिर की खुशी

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की घटक दल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के नेता मुकेश सहनी सोमवार को नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले नये मंत्रिमंडल में शामिल होंगे। मुकेश सहनी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी तथा इस संबंध में राजभवन का पत्र भी साझा किया । सहनी ने कहा, 'मैं माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में शामिल हो रहा हूं। यह वीआईपी के सभी कार्यकर्ताओं तथा बिहार की जनता की जीत है।' उन्होंने कहा, 'हमें मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री अमित शाह तथा राजग के तमाम नेताओं को बहुत धन्यवाद।' गौरतलब है कि नीतीश कुमार सोमवार शाम साढ़े चार बजे बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथग्रहण समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित भाजपा के शीर्ष नेता मौजूद रहेंगे।

Next Story
Share it