Janskati Samachar

UP:अस्पताल के बाहर डॉक्टर, डॉक्टर चिल्लाता रहा पति, पत्नी ने गोद में तोड़ दिया दम

ऐसे समय में जब COVID-19 महामारी की विनाशकारी दूसरी लहर के चलते देश का स्वास्थ्य ढांचा अत्यधिक तनाव में है, उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है।

UP:अस्पताल के बाहर डॉक्टर, डॉक्टर चिल्लाता रहा पति, पत्नी ने गोद में तोड़ दिया दम
X

ऐसे समय में जब COVID-19 महामारी की विनाशकारी दूसरी लहर के चलते देश का स्वास्थ्य ढांचा अत्यधिक तनाव में है, उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहाँ एक आदमी अपनी पत्नी के इलाज के लिए अस्पताल प्रशासन से मदद की भीख मांगता रहा लेकिन आखिर में शख्स की गोद में उसकी पत्नी की मौत हो गई।

व्यक्ति अपनी बीमार पत्नी को इलाज के लिए अंबेडकर नगर जिला अस्पताल में लाया था। अस्पताल में, वह अपनी पत्नी के इलाज के लिए प्रशासन से भीख मांगता रहा लेकिन सब बेकार रहा। जब तक डॉक्टरों द्वारा मदद के लिए उसकी पुकार सुनी गई, तब तक उसकी पत्नी उसकी बाहों में मर चुकी थी। घटना का एक बेहद विचलित करने वाला वीडियो सामने आया है। वीडियो में अंबेडकर नगर जिला अस्पताल के प्रवेश द्वार पर उस आदमी की पत्नी को लेटा हुआ दिखाया गया है, जबकि शख्स बीमार पत्नी के इलाज के लिए मदद मांगता दिख रहा है। असहाय आदमी को रोते हुए सुना जा सकता है: "डॉक्टर साहब … अरे डॉक्टर साहब।" शख्स की चीख पुकार को अनसुना कर दिया गया। डॉक्टरों ने बीमार महिला की करीब एक घंटे बाद जांच की, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।


ऐसे ही एक घटना में कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा के आधिकारिक आवास के बाहर एक कोरोना मरीज की पत्नी अपने पति के लिए बिस्तर के लिए मुख्यमंत्री आवास के बाहर गुहार लगाती नजर आई। हालांकि जैसे तैसे अस्पताल में बिस्तर का इंतजाम हुआ लेकिन अस्पताल ले जाते समय मरीज की मौत हो गई।

सीएमओ के अधिकारियों ने कोविड​​-19 पॉजिटिव व्यक्ति के लिए अस्पताल के बिस्तर की व्यवस्था की। जब वह अस्पताल पहुंचा, तो उसे मृत घोषित कर दिया गया। मृतक व्यक्ति की पत्नी ने कहा कि कई अस्पतालों ने उसके पति को बेड उपलब्ध न होने का हवाला देते हुए भर्ती करने से मना कर दिया था।

वह एक जगह से दूसरी जगह भटकते रहे लेकिन सब व्यर्थ रहा। बाद में उसने सीएम के सरकारी आवास के सामने मदद की गुहार लगाई। अधिकारियों ने उसके लिए अस्पताल में बिस्तर की व्यवस्था की, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई।

Next Story
Share it