Top
Janskati Samachar

अंधविश्वास: नाबालिग बच्ची के साथ करता था दुष्कर्म साधु, आक्रोशित जनता ने की साधु की पिटाई, ये है पूरा मामला

अंधविश्वास के चक्कर में तेलंगाना के निजामाबाद में एक फर्जी साधु की पिटाई का मामला सामने आया है। स्थानीय लोगों ने फर्जी साधु की तब पिटाई की, जब लोगों को पता चला कि उसने कथित तौर पर एक नाबालिग बच्ची का यौन शोषण किया है। साधु ने बच्ची की मानसिक स्थिति को ठीक करने का बहाना लेकर यह अपराध किया था।

अंधविश्वास: नाबालिग बच्ची के साथ करता था दुष्कर्म साधु, आक्रोशित जनता ने की साधु की पिटाई, ये है पूरा मामला
X

नई दिल्ली: अंधविश्वास के चक्कर में तेलंगाना के निजामाबाद में एक फर्जी साधु की पिटाई का मामला सामने आया है। स्थानीय लोगों ने फर्जी साधु की तब पिटाई की, जब लोगों को पता चला कि उसने कथित तौर पर एक नाबालिग बच्ची का यौन शोषण किया है। साधु ने बच्ची की मानसिक स्थिति को ठीक करने का बहाना लेकर यह अपराध किया था।

जादूई शक्तियों से ठीक करने का दावा

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में एक 20 वर्षीय बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और अत्याचार का मामला सामने आया था, जिसके बाद से पूरे देश में जनता के बीच गुस्से का माहौल है। वहीं दूसरी तरफ एक और मामला सामने आया है जिसमें अंधविश्वास के चक्कर में पड़कर बच्ची के माता-पिता ही फर्जी साधु के पास अपनी बेटी को ले गए थे क्योंकि साधु ने अपनी जादूई शक्तियों का हवाला देते हुए दावा किया था कि वह उनकी बच्ची को ठीक कर देगा।

साधु तीन महीने से यौन शोषण कर रहा था

स्थानीय लोगों ने बताया कि पिछले तीन महीने से यह फर्जी साधु बच्ची का यौन शोषण कर रहा था। लड़की ने हाल ही में पेट में दर्द होने की शिकायत की, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में डॉक्टर ने बच्ची के गर्भवती होने की जानकारी दी। स्थानीय लोगों ने बताया कि वो फर्जी साधु बच्ची को ड्रग देता था और एक आइसोलेटे़ड कमरे में ध्यान लगाने के बहाने उसके साथ दुष्कर्म करता था। जैसे ही यह घटना सामने आई, महिला कार्यकर्ता और स्थानीय लोगों ने साधु के घर में जाकर उसकी पिटाई कर दी।

पुलिस ने साधु को किया गिरफ्तार

पिटाई के डर से जब साधु अपने घर से भागा और सड़क पर दौड़ने लगा तब और लोगों ने फर्जी साधु का पीछा किया। उसकी हाथ, डंडे और झाड़ू से पिटाई की गई और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। हालांकि पुलिस ने फर्जी साधु को गिरफ्तार कर लिया है और बच्ची को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है।

Next Story
Share it