Janskati Samachar

भारतीय तट रक्षक (इंडियन कोस्ट गार्ड) कैसे बने ? How did the Indian Coast Guard become?

Indian Coast Guard Kaise Bane: भारतीय तटरक्षक बल को इंडियन कोस्ट गार्ड भी कहते है, यह भारतीय सैन्य बल की एक ऐसी महत्वपूर्ण संस्था है, जो भारत के समुद्री क्षेत्रों की सुरक्षा करनें के साथ-साथ समुद्री संसाधनों, शिपिंग, कस्टम, रिवेन्यू, मैरीटाइम एनवॉयरमेंट तथा नारकोटिक्स, भारतीय तटरक्षक बल नेवी, फिशरीज डिपार्टमेंट, कस्टम डिपार्टमेंट तथा केंद्र एवं राज्य पुलिस फोर्स के साथ संपर्क में रहती है |

indian coast guard kaise bane, indian coast guard salary, recruitment, syllabus,
X

भारतीय तट रक्षक (इंडियन कोस्ट गार्ड) कैसे बने ? How did the Indian Coast Guard become?

भारतीय तट रक्षक किसे कहते है

Indian Coast Guard Kaise Bane: भारतीय तटरक्षक बल को इंडियन कोस्ट गार्ड भी कहते है, यह भारतीय सैन्य बल की एक ऐसी महत्वपूर्ण संस्था है, जो भारत के समुद्री क्षेत्रों की सुरक्षा करनें के साथ-साथ समुद्री संसाधनों, शिपिंग, कस्टम, रिवेन्यू, मैरीटाइम एनवॉयरमेंट तथा नारकोटिक्स, भारतीय तटरक्षक बल नेवी, फिशरीज डिपार्टमेंट, कस्टम डिपार्टमेंट तथा केंद्र एवं राज्य पुलिस फोर्स के साथ संपर्क में रहती है | यह बल समुद्र में जानमाल की सुरक्षा सुनिश्चित करनें लिए आवश्यक उपाय करने के साथ-साथ मछुआरों की सुरक्षा और समुद्र में संकट के समय उनकी सहायता करने के लिए भी सदैव तत्पर रहता है, भारतीय तट रक्षक कैसे बने ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है|

ऐसे बनें भारतीय तट रक्षक

भारतीय तट रक्षक बननें के लिए अभ्यर्थी को बारहवीं क्लास साइंस के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है, आवेदक की आयु 18 से 22 वर्ष के मध्य होनी चाहिये, इसके अंतर्गत असिस्टेंट कमांडेंट, जनरल ड्यूटी (पायलट/नेविगेटर) के लिए अभ्यर्थी की आयु 19-27 वर्ष के मध्य होनी चाहिए, असिस्टेंट कमांडेंट के लिए शैक्षिक योग्यता के अंतर्गत आवेदक के पास फिजिक्स और मैथ्स के साथ बीएससी की डिग्री होनी चाहिए, असिस्टेंट कमांडेंट की नियुक्तिया प्रत्येक वर्ष होती हैं, पुरुषो के साथ-साथ महिलाए भी इसमें सम्मिलित हो सकती है ।

भारतीय तट रक्षक में पद

इंडियन कोस्ट गार्ड में पदों से सम्बंधित जानकारी इस प्रकार है –

  • सारंग लस्कर और सहायक स्टोर कीपर
  • पायलट / नेविगेटर
  • असिस्टेंट कमांडेंट
  • नाविक और यांत्रिक

1.सारंग लस्कर और सहायक स्टोर कीपर

इस पद पर चयनित अभ्यर्थी को स्टोर से सम्बंधित कार्य करना होता है, स्टोर कीपर की भूमिका भंडारण विभाग में आवश्यक सामग्रियों से जुड़े कार्यों के संचालन के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण होती है |

2.पायलट / नेविगेटर

भारतीय तट रक्षक अपने क्षेत्र की निगरानी के लिए एयर स्टेशनों से निश्चित विंग विमान संचालित करता है, इसके अतिरिक्त स्थानीय निगरानी प्रदान करनें और समुद्र में खोज और बचाव मिशन करनें के लिए कोस्ट गार्ड ऑफशोर पेट्रोल वेसल पर हेलीकॉप्टर लगाए गए हैं, समुद्र में इन एयरक्राफ्टों को संचालित करना चुनौतीपूर्ण कार्य है, और आपके विशेष कौशल को सामने लाएगा, पायलट शाखा के एक अधिकारी के रूप में, आपको भारत के तटों के साथ-साथ जहाजो और एयर स्टेशनों दोनों में सेवा करने का अवसर प्राप्त होगा ।

3.असिस्टेंट कमांडेंट

असिस्टेंट कमांडेंट के अंतर्गत टेक्निकल में कार्य करनें के लिए नवल आर्किटेक्चर, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक, मेरीन अथवा डिजाइनिंग इंजीनियरिंग में से किसी एक में बैचलर डिग्री होनी चाहिए, असिस्टेंट कमांडेंट (जनरल ड्यूटी) की योग्यता भी बैचलर है, जबकि बारहवीं में मैथ्स और फिजिक्स का होना चाहिये ।

4.नाविक और यांत्रिक

कम शैक्षणिक योग्यता वाले अभ्यर्थी भारतीय तटरक्षक के साथ नाविक और यांत्रिक के रूप में सम्मिलित हो सकते है । यांत्रिक के रूप में प्रवेश के लिए शैक्षणिक योग्यता दशवीं अथवा डिप्लोमा (इलेक्ट्रिक, एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स) होनी चाहिए । अभ्यर्थी की उम्र 18 से 22 के बीच तथा लंबाई 157 सेमी. तथा भार ऊंचाई के अनुसार ही होना चाहिए, साथ ही सीने का न्यूनतम फुलाव 5 सेमी. होना आवश्यक है । नाविक (जनरल ड्यूटी) के रूप में आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यता फिजिक्स और मैथ्स के साथ 12वीं (कम से कम 60 प्रतिशत) निर्धारित है |

भर्ती परीक्षा

अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के आधार पर किया जाता है, लिखीर परीक्षा में शार्ट लिस्टेड अभ्यर्थियों को मेंटल एबिलिटी टेस्ट के लिए बुलाया जाता है, इसके बाद पिक्चर परसेप्शन (पीपी) और डिस्कशन टेस्ट (डीटी) में, साथ ही मेडिकल एबिलिटी टेस्ट से भी गुजरना होता है, लिखित परीक्षा में हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही माध्यमों में प्रश्न पूछे जाते हैं । अभ्यर्थियों को साइकोलॉजिकल टेस्ट, ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू का भी सामना करना पड़ता है, चयनित अभ्यर्थियों को मेडिकल एग्जाम के लिए संबद्ध अस्पताल में भेजा जाता है, जबकि जीडी (पायलट व नेवीगेटर) को दिल्ली-बेंगलुरु के एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैब्लिशमेंट (एएफसीएमई) भेजा जाता है ।

रैंक और वेतन

रैंक ..........................................................................वेतन

  • सहायक कमांडेंट 15600-39100 रुपये, 5400 ग्रेड वेतन के साथ
  • उप कमांडेंट 15600-39100 रुपये 6600 ग्रेड वेतन के साथ
  • कमांडेंट (जूनियर ग्रेड) 15600-39100 रुपये 7600 ग्रेड वेतन के साथ
  • कमांडेंट 37400-67000 रुपये 8700 ग्रेड वेतन के साथ
  • उप निरीक्षक जनरल 37400-67000 रुपये 8900 ग्रेड वेतन के साथ
  • इंस्पेक्टर जनरल 37400-67000 रुपये 10000 ग्रेड वेतन के साथ
  • महानिदेशक 37400-67000 रुपये 12000 ग्रेड वेतन के साथ
Next Story
Share it